छत्तीसगढ़

मुख्य निर्वाचन आयुक्त ने सुव्यवस्थित निर्वाचन प्रक्रिया के संबंध में समीक्षा की

रायपुर।

भारत निर्वाचन आयोग के मुख्य निर्वाचन आयुक्त ओमप्रकाश रावत ने आज वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिये विधानसभा आम चुनाव 2018 होने वाले राज्यों में सुव्यवस्थित निर्वाचन प्रक्रिया के संबंध में समीक्षा की। उन्होंने इन राज्यों में चुनाव के आदर्श आचार संहिता का शत-प्रतिशत पालन और निर्वाचन प्रक्रिया के सुचारू रूप से संचालन के लिए आवश्यक निर्देश दिए। साथ ही पड़ोसी राज्यों से आपसी समन्वय बनाकर सीमावर्ती क्षेत्रों में आपराधिक गतिविधियों पर नियंत्रण के लिए विशेष निगरानी रखने के लिए भी निर्देशित किया।

इस दौरान छत्तीसगढ़ के मुख्य सचिव अजय सिंह तथा मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी सुब्रत साहू और पुलिस महानिदेशक ए.एन. उपाध्याय द्वारा राज्य में शांति पूर्ण और निष्पक्ष निर्वाचन सम्पन्न कराने के लिए सभी व्यवस्थाओं के बारे में जानकारी देते हुए अवगत कराया गया।

उल्लेखनीय है कि राज्य में विधानसभा आम निर्वाचन के तहत प्रथम चरण के अंतर्गत आठ जिलों के 18 विधानसभा क्षेत्रों में 12 नवम्बर 2018 को मतदान के लिए तिथि निर्धारित है। इनमें बस्तर संभाग के अंतर्गत सभी सात जिलों बस्तर, उत्तर बस्तर (कांकेर), कोण्डागांव, नारायणपुर, बीजापुर, दक्षिण बस्तर (दंतेवाड़ा), और सुकमा के 12 विधानसभा क्षेत्र और राजनांदगांव जिले के छह विधानसभा क्षेत्र शामिल है।

विधानसभा आम चुनाव के द्वितीय चरण के अंतर्गत राज्य के शेष 19 जिलों के 72 विधानसभा क्षेत्रों में मतदान के लिए 20 नवम्बर की तिथि निर्धारित है। इस अवसर पर अपर मुख्य सचिव गृह अमिताभ जैन तथा अन्य संबंधित विभागीय अधिकारी उपस्थित थे।

Tags
advt