सबरीमाला: सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बावजूद विरोध प्रदर्शन करने पर 3 हजार से अधिक लोग ​गिरफ्तार

राज्यभर में 517 लोगों के खिलाफ विभिन्न आरोपों पर पुलिस में मामले दर्ज

तिरुवनंतपुरम।

महिलाओं को केरल के सबरीमाला मंदिर में प्रवेश देने के खिलाफ विरोध प्रदर्शन का सिलसिला थमने का नाम नहीं ले रही है। दूसरी ओर पुलिस भी कोर्ट के आदेश का अनुपालन सुनिश्चित करने में जुटी हुई है।

कोर्ट के आदेश का विरोध शुरू होने के बाद से अब तक पुलिस ने 3,345 से ज्यादा लोगों को गिरफ्तार किया है। राज्य के विभिन्न पुलिस थानों में 26 अक्टूबर से अब तक 517 से अधिक मामले दर्ज किए गए हैं। मंदिर के मुख्य पुजारी यानी तंत्री के परिवार के सदस्य और कार्यकर्ता राहुल ईश्वर को रविवार सुबह कोच्चि में गिरफ्तार किया गया।

जानकारी के मुताबिक, पुलिस को शिकायत मिली थी कि राहुल ईश्वर ने पिछले सप्ताह कोच्चि में एक संवाददाता सम्मेलन में इस मुद्दे पर भड़काऊ टिप्पणी की थी जिसके बाद उन्हें गिरफ्तार किया गया।

इस बीच पिछले 12 घंटों में पत्तनम​तिट्टा जिले, जहां भगवान अयप्पा का मंदिर स्थित है, के साथ ही तिरुवनंतपुरम, कोझिकोड, एनार्कुलम के पुलिस स्टेशनों में 500 से ज्यादा गिरफ्तारियां दर्ज की गई हैं। पुलिस के मुताबिक, अभी तक केवल 122 प्रदर्शनकारी रिमांड में हैं जबकि अन्य को जमानत पर रिहा कर दिया गया है।

आस्था के सामने शीर्ष अदालत का आदेश दरकिनार?

बता दें कि सुप्रीम कोर्ट ने 28 सितंबर को अपने फैसले में 10 से 50 साल तक की उम्र की महिलाओं के मंदिर में प्रवेश करने पर लगे प्रतिबंध को हटा दिया था। इसके बावजूद पिछले दिनों सबरीमाला मंदिर में महिलाओं के प्रवेश को लेकर लगातार विवाद जारी रहा और प्रदर्शनकारियों ने बिना दर्शन उन्हें लौटने पर मजबूर कर दिया।

Back to top button