छत्तीसगढ़

अब यूपी में भी शुरू करेंगे कृषि समृद्धि मेला : शाही

रायपुर: छत्तीसगढ़ में आयोति कृषि समृद्ध मेला का शनिवार देर रात उत्तर प्रदेश के कृषि मंत्री ने अवलोकन किया। इस दौरान कृषि मंत्री सूर्य प्रताप शाही ने कहा कि, छत्तीसगढ़ से प्रेरणा मिली है अब उत्तरप्रदेश में केन्द्रीय कृषि मेला आयोजित करेंगे। उन्हें प्रदेश के कृषिमंत्री बृजमोहन अग्रवाल ने स्वयं गाइड की तरह सभी विभागों के कार्यों, योजनाओं और उपलब्धियों से अवगत कराया।
चूंकि कृषि समृद्धि मेला में किसानों के भीड़ उमड़ रही है, ऐसे में वीवीआईपी प्रवास से किसानों को दिक्कतों का सामना करना पड़ता। इसलिए बृजमोहन अग्रवाल ने शाही व उनके साथ आए अफसरों को रात में मेले का अवलोकन कराया।

जल संसाधन, कृषि, उद्यानिकी, पशुपालन, मत्स्य पालन आदि के स्टालों पर वे गए और वहां के जीवंत प्रदर्शनों को देखा। मेले का नज़ारा देखकर शाही व उनकी टीम के आश्चर्य का ठिकाना नहीं था। छत्तीसगढ़ से इतनी सीख उन्हें मिल जाएगी शायद ऐसी उम्मीद उन्हें नही थी। शाही ने बृजमोहन अग्रवाल की बताई हर जानकारी को नोट किया। उन्होंने अपने अधिकारियों को निर्देशित भी किया।

मंत्री अग्रवाल ने कहा कि, इस कृषि समृद्धि मेला का थीम ड्राप मोर क्रॉप है। पानी की कमीं को देखते हुए टपक सिंचाई के माध्यम से उन्नत खेती करने के गुर यहां बताए जा रहे हैं। धान, फल, फूल, सब्जी आदि की खेती के जीवंत प्रदर्शन से किसानों को इस ओर आकर्षित करने में आसानी हो रही है। अग्रवाल उन्हें कृषक पाठशाला कक्ष भी लेकर गए और उसका उद्देश्य व किसानों को मिल रहे लाभ से अवगत कराया। यहा मंत्री द्वय ने युवराज भैंसा को भी देखा।

राज्य की प्रगति को यूपी के कृषि मंत्री ने सराहा :

शाही ने कहा कि, कृषि क्षेत्र में छत्तीसगढ़ की प्रगति देखते ही बन रही है। यहां का नवाचार बेहद प्रभावित कर रहा है। उन्होंने कहा कि, जिस शिद्दत के साथ कृषि मंत्री बृजमोहन अग्रवाल अपने अफसररों को लेकर कृषक हित में काम कर रहे हैं वह निश्चित रुप से प्रेरणादायक हैं।

हम उत्तरप्रदेश कृषि विभाग के अपर निदेशक आरिफ सिद्दीकी, सहायक निदेशक धर्र्मेंद्र कुमार सिंह, डॉ मेनिका, सहायक महानिदेशक उपकार डॉ मुखर्जी ,पंकज गुप्ता आदि को साथ लेकर आए हैं। हमारा मकसद है कि, जो भी यहां का बेहतर हो अपने उत्तरप्रदेश के किसानों के हित में हम भी वैसा कर पाएं ।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button