अमरनाथ यात्रा : हर आने-जाने वाले पर नजर रखेगी तीसरी आंख, सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम

नई दिल्ली: बाबा भोले शंकर की नजर अपने भक्तों पर हमेशा रहती है… लेकिन इस साल उनके अलावा एक और तीसरी आंख आने-जाने वालों की हर हरकत पर नजर रखेगी. अमरनाथ यात्रा पर आतंकी खतरे को देखते हुए इस साल सेटेलाइट ट्रैकिंग सिस्टम इस्तेमाल किया जा रहा है. इसके अलावा बुलेट प्रूफ टेंट लगाए गए हैं. कैम्पों में सीसीटीवी कैमरे लगाए गए हैं. इसके अलावा यात्रा मार्ग पर ड्रोन से नजर रखी जाएगी.

प्रधानमंत्री कार्यालय के राज्यमंत्री जितेंद्र सिंह ने एनडीटीवी इंडिया से कहा कि “यह यात्रा सिर्फ हिंदुओं की नहीं है. इसको सफल बनाना भी सिर्फ सुरक्षा एजेंसियों का काम नहीं है बल्कि हम सबका है. यह यात्रा हिंदुस्तान की मिलीजुली तहजीब की प्रतीक है क्योंकि यात्री हिंदू होते हैं और मेजबानी दूसरे समुदाय के लोग करते हैं.”

जितेंद्र सिंह के मुताबिक़ खतरे को देखते हुए यात्रा की सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए गए हैं. उन्होंने कहा कि “खुद केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने कई बैठकें कीं. साथ ही जम्मू-कश्मीर प्रशासन की मांग पर इस साल दोगुने सुरक्षा बल यात्रा के लिए तैनात किए गए हैं.” केंद्रीय गृह मंत्रालय ने पिछले साल सुरक्षा बलों की 115 कम्पनियां यात्रा के लिए तैनात की थीं. इस साल इनकी संख्या दोगुनी है. इस साल मंत्रालय ने 210 कम्पनियां यात्रा के दौरान सुरक्षा के लिए तैनात की हैं.

Back to top button