इस वक्त भूलकर भी न खाएं दही, वरना बन सकता है जहर

नई दिल्ली. दही सेहत के लिये बेहद फायदेमंद होता है। लेकिन यदि इसे गलत समय पर खाया तो ये जहर बन सकता है। आयुर्वेद पद्धति के मुताबिक दही को रात को खाने से बचना चाहिये। दरअसल रात के वक्त हमारे शरीर में कफ की प्राकृतिक प्रबलता बढ़ जाती है। इसके अलावा रात को दही खाने से पेट की बीमारी होने के भी खतरे रहते हैं। एक्सपर्ट्स की माने तो रात को दही खाने से फूड पॉइजनिंग हो सकती हैं।

गड़बड़ हो सकती है पाचन क्रिया : दरअल रात को दही खाने से पाचन क्रिया में गड़बड़ी पैदा हो जाती है। इसे पचाने के लिए एनर्जी बर्न करने की जरूरत होती है। रात के समय ज्यादातर लोग खाने के बाद सो जाते है। जिससे दिक्कत बढ़ने लगती है।इसके अलावा शरीर में यदि सूजन आदि हो तो, दही खाने से हमेशा बचना चाहिये क्योंकि यह सूजन को और भी ज्यादा बढ़ा देता है।

शरीर में हो सकता है इंफैक्शन : रात के समय दही खाने से शरीर में इंफैक्शन होने का डर रहता है। इससे खांसी और जुखाम हो सकता है। वहीं, गठिया या जोड़ों के दर्द से परेशान हैं तो रात के समय इसका सेवन करने से परहेज करें। इससे दर्द कम होने की बजाए बढ़ जाएगा। दही टेस्ट में खट्टी, तासीर में गर्म और पचाने में भारी होती है। यह वसा, ताकत, कफ, पित्त, पाचन शक्ति बढ़ाती है।वहीं, खट्टी दही को कभी भी गरम कर के नहीं खाना चाहिये। दही को ना केवल रात में ही बल्कि बसंत में भी नहीं खाना चाहिये।

कब, क्यों और कैसे खाना चाहिए : दही खाने का सबसे बढ़िया समय सुबह का है। इसके अलावा नाश्ते में दही की एक कटोरी में शक्कर मिलाकर खाने से खून की कमी दूर होती है। दही को हेल्थ के लिए बहुत अच्छा माना जाता है। इसमें कुछ ऐसे कैमिकल पदार्थ होते हैं, जिसके कारण यह दूध के मुकाबले जल्दी पच जाता है। जिन लोगों को पेट की परेशानियां उनके लिए दही या उससे बनी लस्सी, छाछ का उपयोग करना फायदेमंद होता है।

new jindal advt tree advt
Back to top button