एक सप्ताह में अंडर-23 टीम तैयार करना मुश्किल: कान्सटेनटाइन

नई दिल्ली: भारतीय फुटबॉल टीम के मुख्य कोच स्टीफन कान्सटेनटाइन ने देश में विभिन्न आयु वर्गों के लिये सतत प्रतिक्रिया के अभाव पर निराशा व्यक्त की जिसकी वजह से किसी भी बड़े टूर्नामेंट से कुछ दिन पहले टीम एक साथ मिलकर अभ्यास कर पाती है। कान्सटेनटाइन ने कहा कि अंडर-23 टीम के खिलाडिय़ों ने अगले महीने कतर में होने वाले महाद्वीपीय क्वालीफायर से कुछ दिन पहले ही एक साथ मिलकर खेलना शुरू किया। कान्सटेनटाइन की देखरेख में अभी अंबेडकर स्टेडियम में इस टीम का राष्ट्रीय शिविर चल रहा है। राष्ट्रीय टीम 13 जून को एशिया कप क्वालीफायर में किर्गीस्तान पर 1-0 की जीत के बाद विश्राम कर रही है जिससे कान्सटेनटाइन को अंडर-23 टीम के लिये समय मिल गया। भारत को सीरिया, तुर्कमेनिस्तान और मेजबान कतर के साथ एक ग्रुप में रखा गया है। कान्सटेनटाइन ने कहा कि उनकी अगुवाई में जो लड़के खेल रहे हैं उन्हें टूर्नामेंट में परेशान हो सकती है क्योंकि वे दस दिन से ही एक साथ मिलकर खेल रहे हैं।

कान्सटेनटाइन ने कहा कि इस भारतीय टीम तथा कतर, सीरिया और तुर्कमेनिस्तान में मैं आपका अंतर बताउंगा। उनकी (कतर, सीरिया और तुर्कमेनिस्तान) टीमें पिछले चार पांच साल से साथ में हैं। हमारी टीम केवल दस दिन से साथ में है। यह अंतर है। उन्होंने कहा कि हमारे पास अंडर-17 से अंडर-19 और अंडर-23 तक कोई सतत प्रक्रिया नहीं है। इनमें से कुछ लड़के अंडर-19 टीमों में साथ में खेले हैं लेकिन अधिकतर एेसे नहीं है। इसलिए एक सप्ताह या दस दिन में तैयार करना मुश्किल होता है। हम मैच जीतने की कोशिश करेंगे। हम वहां हारने के लिये नहीं जा रहे हैं लेकिन यह इन खिलाडिय़ों के लिये मुश्किल है क्योंकि वे बहुत दिनों से साथ में नहीं हैं।

कान्सटेनटाइन ने कहा कि पूरे भारत से 28.30 लड़कों को एक साथ मिलाकर उनसे टीम तैयार करना भी तनाव भरा काम है। हम अभी इसे टीम के रूप में तैयार करने की कोशिश कर रहे हैं। कान्सटेनटाइन ने इसके साथ ही कहा कि लुई नोर्टन डि मातोस देखरेख में तैयारी कर रही अंडर-17 टीम को भी फीफा अंडर-17 विश्व कप से पहले काफी कुछ काम करने की जरूरत है। उन्होंने कहा कि उन्हें अभी काम कुछ करना होगा। वे पिछले काफी समय से साथ में हैं। लुई भी पिछले तीन चार महीने से टीम के साथ है। उम्मीद है कि वे अच्छे परिणाम देंगे लेकिन यह बहुत मुश्किल है। निकोलेई एडम को बाहर किये जाने के बाद कान्सटेनटाइन संक्षिप्त समय के लिये अंडर-17 टीम के साथ रहे थे।

Back to top button