कांग्रेस सह प्रभारी ने पदाधिकारियों को पढ़ाया एकता, अनुशासन का पाठ

धमतरी: चुनावी वर्ष होने की वजह से कांग्रेस को मजबूत करने राष्ट्रीय अध्यक्ष के नेतृत्व में छत्तीसगढ़ के प्रभारी, सह प्रभारी लगातार जिलों में बैठक ले रहे हैं। इसी सिलसिले में बुधवार छत्तीसगढ़ कांग्रेस के सह प्रभारी कमलेश्वर पटेल धमतरी पहुंचे।

कांग्रेस भवन में हुए बैठक में उन्होंने पदाधिकारियों को एकता और अनुशासन का पाठ पढ़ाया। पदाधिकारियों और कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए पटेल ने कहा कि, भाजपा सरकार कांग्रेस को हटाने तरह-तरह के हथकंडे अपना रही है।

पीसीसी अध्यक्ष को भी फंसाने की कोशिश की गई। पत्रकार विनोद वर्मा को भी फंसाया गया। बीजेपी से लडऩे के लिए हमें मजबूत होना पड़ेगा। चुनावी वर्ष है आप सभी इसके लिए अभी से तैयार हो जाएं। उन्होंने कहा कि, पार्टी जिसको भी टिकट दे एक होकर काम करना पड़ेगा।

आपस में लड़ते रहेंगे तो भाजपा मजबूत हो जाएगी सरकार अपने आप को प्रचारित करने के लिए विज्ञापन का जिम्मा ले रखा है जमीनी स्तर पर सब कुछ खोखला है जनता उनसे नाराज है हमको उन जनता को सच बताना होगा इसके लिए एकता जरूरी है। उन्होंने पदाधिकारियों से कहा कि, लगातार कार्यक्रम बनाएं विभिन्न मुद्दों को लेकर धरना प्रदर्शन करते रहे।

सौदान सिंह पर कटाक्ष करते हुए कहा कि, सौदान सिंह सौदागर कहते हैं कि 1 साल तक कमीशन बंद कर दो क्योंकि अभी चुनावी वर्ष है इसलिए डरने लगे हैं। अन्य दलों को बढ़ाने की कोशिश कर रहें है ताकि कांग्रेस कमजोर हो सके लेकिन यह संभव नहीं है। हम उस पार्टी के वंशज हैं जिन्होंने आजादी के लिए अहम भूमिका निभाई है स्वार्थी तत्वों से बचकर रहना होगा।

जो विस चुनाव लडऩा चाहते हैं वह कार्यकर्ता का सम्मान करें और जिन्हें टिकट मिलती है। उन्हें झुककर भी रहना होगा। जो भी पदाधिकारी हैं वह सभी को लेकर चलें। यहां पर उनके आने का उद्देश्य देखना है कि, कौन अभी पार्टी में कितना सक्रिय है और किसको कौन सी भूमिका दी जाएगी।

इसके बाद बूथ प्रभारी राजेश तिवारी ने बूथ स्तर पर कैसे मजबूत दिलाना है इसपर टिप्स दिए। उद्बोधन के बाद कमलेश्वर पटेल ने ब्लॉक जिला स्तर के पदाधिकारियों से मुलाकात की और उनकी समस्याओं को सुना। 

इस दौरान विधायक गुरमुख सिंह होरा, जिला अध्यक्ष मोहन लालवानी, पूर्व विधायक हर्षद मेहता, लेख राम साहू, अंबिका मरकाम, पूर्व मंत्री माधव सिंह धु्रव, पीसीसी सचिव पंकज महावर आनंद पवार, सहित पदाधिकारी और कार्यकर्ता मौजूद थे। 

advt
Back to top button