कोण्डागांव में उल्लास एवं उत्साह से मनाया गया गणतंत्र दिवस

कोण्डागांव: प्रतिवर्ष की भांति इस वर्ष भी जिले में गणतंत्र दिवस हर्षोल्लास एवं गरिमामय ढंग से मनाया गया। गणतंत्र दिवस का मुख्य कार्यक्रम विकासनगर स्टेडियम मैदान में आयोजित था। जहां मुख्य अतिथि संसदीय सचिव राजू क्षत्री के द्वारा ध्वजारोहण किया गया। इस अवसर पर अध्यक्ष खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति निगम सुश्री लता उसेण्डी, विधायक मोहन मरकाम, जिला कलेक्टर नीलकंठ टीकाम, पुलिस अधीक्षक डॉ. अभिषेक पल्लव, सीईओ जिला पंचायत डॉ0 संजय कन्नौजे, एसडीएम खेमलाल वर्मा, डिप्टी कलेक्टर डॉ0 नेहा कपूर, सूरज साहू, सहायक आयुक्त आदिवासी विकास जी.आर.सोरी, जिला शिक्षा अधिकारी राजेश मिश्रा सहित जिले के सभी अधिकारी एवं स्कूली बच्चे बड़ी संख्या में मौजूद थे।    

गणतंत्र दिवस समारोह में ध्वजारोहण के उपरांत शालेय छात्रों के बैण्ड की धुन पर राष्ट्रगान किया गया। तत्पश्चात् जिला पुलिस बल, आईटीबीपी, एन.एस.एस., एन.सी.सी. के छात्रों द्वारा आकर्षक मार्च पास्ट का प्रदर्शन सम्पन्न हुआ। मुख्य अतिथि द्वारा परेड निरीक्षण के बाद माननीय मुख्यमंत्री डॉ0 रमन सिंह के संदेश का वाचन किया गया साथ ही समारोह स्थल पर शांति के प्रतीक श्वेत कपोत एवं रंगीन गुब्बारे भी उड़ाए गए। इसके साथ ही मुख्य अतिथि द्वारा शहीद परिवारों के परिजनों को शाल एवं श्रीफल देकर सम्मानित किया गया।

देशभक्ति, सर्वधर्म एकता, स्वच्छता, पर्यावरण पर आधारित लोक गीतों एवं नृत्यों ने दर्शकों का दिल जीता

कार्यक्रम का मुख्य आकर्षण लगभग 1500 विभिन्न प्रतिभागी विद्यालयों के छात्र-छात्राओं द्वारा विभिन्न राज्यों की वेशभूषा में ‘‘भारतीयम‘‘ नामक कार्यक्रम की प्रस्तुति थी। जिसके माध्यम से छात्र-छात्राओं ने कला एवं संस्कृति अनेकता में एकता एवं देशप्रेम की भावना का संदेश दिया।

इस कार्यक्रम के ‘‘नयना भिराम‘‘ प्रदर्शन को  दर्शको एवं उपस्थित अतिथियों की बेहद सराहना मिली। उक्त रंगारंग कार्यक्रम में कश्मीर से कन्याकुमारी तक के नृत्यों को दर्शाया गया था जिसमें पंजाब का भांगड़ा एवं गिद्धा नृत्य, महाराष्ट्र का लावनी, राजस्थान का घुमर नृत्य, उड़ीसा का दाल खाई नृत्य, आसाम का बिहु नृत्य एवं छत्तीसगढ़ के आदिम एवं धार्मिक संस्कृति को दर्शाते हुए नृत्य थे। इसके अलावा गोवा, उत्तरप्रदेश, जम्मु कश्मीर के नृत्यों की झलकियाँ भी भारतीयम कार्यक्रम में शामिल की गई थी। जिसने दर्शकों की भरपूर तालियाँ बटोरी।

बेस्ट ऑफ दी बेस्ट अवार्ड से सम्मानित हुए विभिन्न कार्यालय एवं संस्थान

गणतंत्र दिवस समारोह में इस वर्ष उत्कृष्ट कार्य करने वाले कार्यालय, संस्थाओं, छात्रावास, विद्यालय, व्यापारिक प्रतिष्ठान, स्व-सहायता समूह, राशन दुकान के लिए बेस्ट ऑफ दी बेस्ट अवार्ड की घोषणा की गई थी। इनके चयन हेतु अधिकारियों एवं नागरिकों एवं पत्रकारों, अधिवक्ता का निर्णायक मण्डल बनाया गया था।

इसके अंतर्गत उत्कृष्ट जिला स्तरीय कार्यालय उत्तरवनमण्डल केशकाल, उत्कृष्ट तकनीकी विभाग, कार्यपालन अभियंता छत्तीसगढ़ विद्युत मण्डल, उत्कृष्ट पुलिस थाना केशकाल, कार्यालय तहसीलदार कोण्डागांव, कार्यालय जनपद पंचायत कोण्डागांव, ग्राम पंचायत मुनगापदर, आंगनबाड़ी केन्द्र प्लाटपारा शामपुर सेक्टर, शासकीय उचित मूल्य की दुकान दहीकोंगा, धान उपार्जन केन्द्र बड़ेडोंगर, प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र अनतपुर, उप स्वास्थ्य केन्द्र बाड़ागांव, सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र विश्रामपुरी, शासकीय आयुर्वेद औषधालय बोरगांव, प्राथमिक शाला कदमपारा बड़ेकनेरा, पूर्व माध्यमिक शाला बीरापारा विश्रामपुरी, शासकीय हाईस्कूल करंजी, शासकीय हायर सेकेण्डरी जैतपुरी, पोस्ट मैट्रिक बालक एवं बालिका छात्रावास कोण्डागांव, प्री-मैट्रिक बालक छात्रावास कोण्डागांव, कन्या छात्रावास फरसगांव, कन्या आश्रम गम्हरी, बालक आश्रम कारसिंग, कस्तुरबा बालिका आवासीय विद्यालय कोण्डागांव, सिटी गैस एजेंसी कोण्डागांव, बालाजी किराना स्टोर्स कोण्डागांव, गणेश मेडिकल स्टोर्स कोण्डागांव, माँ दुर्गा मारवाड़ी भोजनालय कोण्डागांव, माँ संतोषी स्व-सहायता समूह जामकोट पारा एवं उत्कृष्ट ठेकेदार के लिए राजेश सिंग का चयन किया गया था और इन्हें पुरस्कार राशि में 21 हजार रुपये का चेक एवं प्रशस्ति पत्र दिए गए।

गौरतलब है कि कुछ शासकीय विभाग ने अपने पुरस्कार राशि जीवनदीप समिति तथा जिला प्रशासन द्वारा कुपोषण के विरुद्ध चलाये जा रहे अभियान ‘‘स्वच्छता से सुपोषण की ओर बढ़ता कोण्डागांव‘‘ को समर्पित कर दिया।

विभागीय झांकियों में प्रथम स्थान रहा यातायात विभाग का

इस वर्ष गणतंत्र दिवस पर प्रदर्शित विभागीय झांकियों में पुलिस एवं यातायात विभाग की झांकी प्रथम स्थान रही। इस झांकी में यातायात दुर्घटना विषय वस्तु पर आधारित घटना का जीवन्त प्रदर्शन किया गया था और लोगो को सुरक्षित आवागमन हेतु संदेश दिया गया। इसी प्रकार द्वितीय स्थान पर रही आदिम जाति कल्याण विभाग एवं शिक्षा विभाग की संयुक्त झांकी में संस्कृति एवं शिक्षा का तालमेल प्रदर्शित किया गया था और विभाग की नई योजनाओं को आकर्षक ढंग से प्रस्तुत किया गया था।

इसी प्रकार वनविभाग द्वारा हरियाली झांकी की थीम में वन कटाई से होने वाले दुष्परिणाम एवं वन संरक्षण एवं संवर्धन से दैनिक जीवन में खुशहाली को प्रभावशाली ढंग से दर्शाया गया था। इस क्रम में महिला बाल विकास एवं स्वास्थ्य विभाग द्वारा सुपोषण अभियान, ऊर्जा विभाग द्वारा सौभाग्य एवं सौर सुजला योजना, ग्रामीण विकास विभाग द्वारा आवास योजना विषयाधारित झांकियों का प्रदर्शन किया गया। ज्ञातव्य है कि समारोह के अंत में कलेक्टर के मार्गदर्शन में खाद्य विभाग द्वारा उज्जवला योजना पर आधारित रोचक प्रहसन प्रस्तुत किया गया।

जिसमें वन संरक्षण और उज्जवला योजना के परस्पर संबंध को जिले के सहायक खाद्य अधिकारी चंद्रशेखर देवांगन, खाद्य निरीक्षक शशिसिंह द्वारा नुक्कड़ नाटक के माध्यम से दर्शाया गया। जिसे लोगो ने बहुत पसंद किया। समारोह में निर्णायकों द्वारा किए गए मूल्याकंन के आधार पर मार्च पास्ट व्यायाम प्रदर्शन सांस्कृतिक कार्यक्रम में आकर्षक प्रदर्शन करने वाले विभागो एवं शालाओं को भी पुरस्कृत किया गया। जिसमें मार्च पास्ट में प्रथम स्थान जिला पुलिस बल (महिला), द्वितीय जिला पुलिस बल (पुरुष) एवं तृतीय आईटीबीपी के जवान रहे।

वहीं जुनियर डिवीजन में एन.सी.सी. बालक प्रथम, एन.एस.एस. बालक एवं बालिका का स्थान द्वितीय एवं तृतीय था। सांस्कृतिक कार्यक्रम में प्रथम स्थान चावरा हायर सेकेण्डरी स्कूल कोण्डागांव एवं द्वितीय डी.ए.व्ही. स्कूल और तृतीय शासकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय बाजार पारा को मिला। कार्यक्रम में कोनगुड़ (ढोलमांदर नृत्य) रावबेड़ा (हुल्की नृत्य), मालाकोट एवं चारगांव का (मांदरी नृत्य) एवं पंथी नृत्य कोण्डागांव को पांच-पांच हजार की राशि भी दी गई।

1
Back to top button