खेल शक्ति बनने के लिए महत्वपूर्ण हैं स्लम दौड़ जैसी प्रतियोगिताएं : गोयल

नई दिल्ली: केंद्रीय खेल मंत्री विजय गोयल ने आज यहां अपने मंत्रालय की महत्वाकांक्षी योजना स्लम गोद अभियान के तहत चल रही युवा स्लम दौड़ के दूसरे चरण को हरी झंडी दिखाने के बाद कहा कि खेल संस्कृति को बढ़ावा देने और देश को खेल शक्ति बनाने में इस तरह की प्रतियोगिताएं अहम भूमिका निभा सकती है।

गोयल ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी का भी मानना है कि जो खेलता है, वो खिलता है। हमें जरूरत है की एेसी प्रतियोगिताएं के माध्यम से देश भर में खेल संस्कृति को बढ़ावा मिले और नयी प्रतिभा की खोज की जा सके जो भविष्य में देश को खेल शक्ति बनाने में सहायक होंगे। प्रतिभागियों ने आज पूर्वी दिल्ली के क्रॉस रिवर मॉल से यमुना स्पाट्र्स काम्प्लेक्स तक लगभग दो किलोमीटर का फासला तय किया।

यहां जारी विज्ञप्ति के अनुसार इस प्रतियोगिता के तीसरे चरण में 25 जून को पीतमपुरा के कस्तूरबा गाँधी पॉलिटेक्निक से पीतमपुरा स्पाट्र्स काम्प्लेक्स तक लगभग दो किलोमीटर की दूरी तय की जायगी ष इस दौड़ को खेल मंत्री और दो बार के आेलंपिक पदक विजेता पहलवान सुशील कुमार हरी झंडी दिखाएंगे।

Back to top button