गणतंत्र दिवस की तैयारी जोरों पर, जवानों और छात्रों ने किया फायनल रिहर्सल

रायपुर: राजधानी रायपुर में गणतंत्र दिवस का मुख्य समारोह पुलिस परेड ग्राउण्ड में सुबह 9 बजे से होगा। राज्यपाल बलरामजी दास टण्डन मुख्य समारोह स्थल पर ध्वजारोहण कर संयुक्त परेड की सलामी लेंगे। बुधवार को पुलिस परेड ग्राउण्ड में हुए फाइनल रिहर्सल में परेड में शामिल जवानों और स्कूली छात्र-छात्राओं ने पूरे जोश और उत्साह से परेड और सांस्कृतिक कार्यक्रमों का प्रदर्शन किया।

इस मौके पर प्रदेश के मुख्य सचिव अजय सिंह, अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक (छग सशस्त्र बल) संजय पिल्लई, गृह विभाग के सचिव अरूण देव गौतम, पुलिस महानिरीक्षक रायपुर प्रदीप गुप्ता, पुलिस अधीक्षक अमरेश मिश्रा, अपर कलेक्टर क्यू.ए.खान, एडीएम रेणुका श्रीवास्तव सहित अन्य विभागीय अधिकारी मौजूद थे।

फाइनल रिहर्सल में परेड कमाण्डर सूरज सिंह (भापुसे) और त्रिलोक बंसल (भापुसे) और परेड टूआईसी देवांश सिंह राठौर (रापुसे) और चंद्रशेखर परमा (रापुसे) के नेतृत्व में 21 प्लाटूनों ने कदम से कदम मिलाते हुए पूरे जोश और उत्साह से परेड और हर्ष फायर का प्रदर्शन किया।

इसमें सीमा सुरक्षा बल, केन्द्रीय रिजर्व पुलिस बल, सषस्त्र सीमा बल, भारत तिब्बत सीमा बल, केन्द्रीय औद्योगिक सुरक्षा बल, झारखण्ड सशस्त्र पुलिस, छत्तीसगढ़ सशस्त्र पुलिस, छग पुलिस (पुरूष), छग पुलिस (महिला), जेल प्लाटून, नगर सेना, एनसीसी सीनियर डिवीजन, एनसीसी एयर विंग, एनसीसी सीनियर विंग (गल्र्स), एनसीसी नेवल यूनिट, एनसीसी जूनियर डिवीजन, एनएसएस (गल्र्स), स्काउट, गाईड और बैण्ड प्लाटून की टुकडिय़ों से आकर्शक मार्च पास्ट का प्रदर्शन किया गया।

परेड के बाद स्कूली छात्र-छात्राओं की ओर से रंगारंग सांस्कृतिक कार्यक्रम प्रस्तुत किए गए, जिसमें छत्तीसगढ़ के उत्तर क्षेत्र अंबिकापुर के 170 छात्र-छात्राओं की ओर से प्रदेश के विकास कार्यो को नृत्य के माध्यम से प्रस्तुत किया गया।

इसके बाद मध्य क्षेत्र में धमतरी के 140 छात्र-छात्राओं के दल ने कन्या भू्रण हत्या जैसी सामाजिक कुरीति पर नृत्य नाटिका के माध्यम से प्रहार किया। अगली कड़ी में दक्षिण क्षेत्र में बस्तर संभाग के 140 छात्र-छात्राओं ने छत्तीसगढ़ के प्रथम स्वतंत्रता संग्राम सेनानी महानायक शहीद वीर नारायण सिंह की जीवन गाथा के कुछ अंश को प्रस्तुत किया गया।

1
Back to top button