छत्तीसगढ़ में पत्रकारिता करना बेहद मुश्किल है : विनोद वर्मा

अश्लील सीडी कांड में पिछले करीब दो महीने से जेल में बंद पत्रकार विनोद वर्मा आज जेल से रिहा हो गए

छत्तीसगढ़ में पत्रकारिता करना बेहद मुश्किल है : विनोद वर्मा

रायपुर : अश्लील सीडी कांड में पिछले करीब दो महीने से जेल में बंद पत्रकार विनोद वर्मा आज जेल से रिहा हो गए ।

विनोद वर्मा को सीबीआई ने जमानत दिया है । जेल से रिहा होने के बाद विनोद वर्मा ने कहा कि इस सरकार में पत्रकारिता करना बेहद मुश्किल है।

उन्हीने कहा कि उनके पास झीरम घाटी और अंतागढ़ टेप कांड से जुड़े कई सबूत है और वो उनपर काम कर रहे थे। विनोद वर्मा ने कहा कि उनके पास और भी कई मामलों की जानकारी है जो उन्होंने बता दी हैं।

विनोद वर्मा का कहना है कि सीडी कांड में ब्लेकमेलिंग का आरोप लगा है लेकिन कोई बता दे कि मेरे किस नंबर से कॉल किया गया है । उन्होंने कहा कि वे सरकार की साजिश का शिकार हो गए हैं . वहीँ विनोद वर्मा ने ये भी बताया कि वो सिर्फ पत्रकारिता कर रहे थे उनकी ऐसी कोई भी मंशा नहीं थी.

उन्होंने बताया कि इस मामले की जानकारी उन्होंने देश के चार बड़े पत्रकारों को दी थी. विनोद वर्मा ने कहा कि वे शुरू से ही इस मामले में उनका साथ देने को तैयार थे और आज भी मामले की जांच में पूरा सहयोग करेंगे.

वहीँ विनोद वर्मा की रिहाई की जानकारी मिलते ही प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष भूपेश बघेल सहित कई बड़े कांग्रेसी नेता जेल पहुँच गए. विनोद वर्मा रिहाई के बाद भूपेश बघेल के साथ उनकी गाडी में बैठक निकले. इस मौके पर कांग्रेस और कुर्मी समाज के लोगों ने विनोद वर्मा का हार फुल से स्वागत किया.

advt
Back to top button