जनसमस्या निवारण शिविर में मौके पर किया गया 231 आवेदनों का निराकरण

राजनांदगांव : जिले के खैरागढ़ विकासखंड के सुदूर वनांचल के ग्राम देवरी में आज 24 जून को जिला स्तरीय जनसमस्या निवारण शिविर का आयोजन किया गया। इस अवसर पर जनसमस्या निवारण शिविर में शामिल होने जनप्रतिनिधि एवं जिला प्रशासन के सभी आला अधिकारी ग्राम देवरी पहुंचे थे। शिविर में जिला पंचायत अध्यक्ष श्रीमती चित्रलेखा वर्मा, विधायक डोंगरगढ़ श्रीमती सरोजनी बंजारे, कलेक्टर श्री भीम सिंह, जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्री चंदन कुमार, जनपद अध्यक्ष श्री विक्रांत सिंह एवं एसडीएम खैरागढ़ श्री पीएस धु्रव विशेष रूप से उपस्थित थे। इस अवसर पर कलेक्टर श्री भीम सिंह ने ग्रामीणों की मांग पर ग्राम पंचायत सिंगारघाट में नवीन ग्राम पंचायत भवन का निर्माण हेतु प्रस्ताव तैयार करने के निर्देश दिए। इसके साथ ही उन्होनें क्षेत्र के किसानों की सहुलियत को ध्यान में रखते हुए ग्राम देवरी में मंगलवार 27 जून को खाद-बीज का वितरण कराने के निर्देश जिला सहकारी केन्द्रीय सहकारी बैंक के मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्री एनके दिल्लेवार को दिए। कलेक्टर श्री भीम सिंह ने ग्राम देवरी एवं आसपास के ग्राम पंचायतों के सरपंचों एवं ग्रामीणों को बुलाकर उनके ग्राम पंचायतों के प्रमुख समस्याओं तथा मांगों के संबंध में विस्तार पूर्वक जानकारी ली। श्री भीम सिंह ने संबंधित विभाग के अधिकारियों को तलब कर ग्रामीणों की मांगों एवं समस्याओं का त्वरित निराकरण करने के निर्देश भी दिए। इस दौरान शिविर में विभिन्न विभागों से प्राप्त कुल 254 आवेदनों में से 231 आवेदनों को मौके पर ही निराकृत किया गया। शिविर में कृषि विभाग के द्वारा 6 कृषकों को बैटरी चलित स्प्रेयर तथा प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजनांतर्गत 13 हितग्राहियों को रसोई गैस कनेक्शन का भी वितरण किया गया।
शिविर को संबोधित करते हुए जिला पंचायत की अध्यक्ष श्रीमती चित्रलेखा वर्मा ने ग्रामीणों को जनसमस्या निवारण शिविर के महत्व एवं उद्देश्यों के संबंध में जानकारियां दी। उन्होनें कहा कि ग्रामीण अंचलों में जिला स्तरीय जनसमस्या निवारण शिविर के आयोजन करने से ग्रामीणों को अपने मांगों एवं समस्याओं के निराकरण हेतु जिला एवं विकासखंड मुख्यालय के चक्कर लगाने से मुक्ति मिलती है। उन्होनें कहा कि जनसमस्या निवारण शिविर में जिला प्रशासन के सभी विभागों के आला अधिकारी एवं मंच पर उपस्थित होकर ग्रामीणों के मांगों एवं समस्याओं का निराकरण करने का प्रयास करते हैं। उन्होनें ग्रामीणों को जनसमस्या निवारण शिविर में अधिक से अधिक संख्या में उपस्थित होकर शिविर का लाभ उठाने की अपील की। विधायक डोंगरगढ़ श्रीमती सरोजनी बंजारे ने कहा कि जनसमस्या निवारण शिविर के माध्यम से जिला प्रशासन के सभी प्रमुख अधिकारी आम जनता के बीच पहुंचकर उनकी वास्तविक समस्याओं को जानने का प्रयास करते हैं। शिविर में अधिकारियों के द्वारा जनसामान्य से प्राप्त आवेदनों पर त्वरित कार्रवाई कर निराकरण करने का प्रयास भी किया जाता है। इस अवसर पर उन्होनें ग्राम देवरी एवं आस-पास के अंचलों के अलावा खैरागढ़ विकासखंड के सुदूर वनांचलों में हुए विकास कार्यों के संबंध में भी जानकारी दी। उन्होनें कहा कि छत्तीसगढ़ शासन के विशेष प्रयासों से आज विकास की किरण समाज के अंतिम व्यक्ति तक पहुंच चुकी है। श्रीमती बंजारे ने ग्रामीणों को जागरूक होकर शासन की जनकल्याणकारी योजनाओं का लाभ उठाने की भी अपील की। इस दौरान उन्होनें ग्राम गहिराटोला से देवरी तक तथा ग्राम देवरी से मारूटोला तक सड़क निर्माण की भी मांग की।
कलेक्टर श्री भीम सिंह ने कहा कि जनसमस्या निवारण शिविर आम जनता की मांगों एवं समस्याओं का निराकरण करने का कारगर माध्यम है। इस अवसर पर कलेक्टर ने शासन की जनकल्याणकारी योजनाओं के संबंध में भी ग्रामीणों को जानकारी दी। उन्होनें समाज के विकास हेतु शिक्षा को आवश्यक बताते हुए शिक्षा गुणवत्ता में सुधार हेतु शिक्षकों के अलावा जनप्रतिनिधियों, ग्रामीणों एवं पालकों को भी सहभागिता निभाने की अपील की। उन्होनें जनप्रतिनिधियों एवं पालकों को समय-समय पर स्कूल पहुंचकर स्कूल में शिक्षकों की नियमित उपस्थिति एवं अध्यापन सुनिश्चित कराने में सहयोग करने को कहा। उन्होनें कहा कि स्कूलों में बच्चों की प्रतिदिन उपस्थिति अनिवार्य है। इस दौरान राजस्व विभाग से कुल 32, जनपद पंचायत के 120, जल संसाधन विभाग के 10, कृषि विभाग के 8, पशु चिकित्सा विभाग के 11, विद्युत विभाग के 15, वन विभाग के 6 तथा परिवहन विभाग से संबंधित कुल 20 आवेदनों को मौके पर ही निराकृत किया गया। इस अवसर पर गर्भवती माताओं को पौष्टिक भोजन की थाल भेंट कर उनका गोदभराई रस्म को पूरा किया गया। कार्यक्रम में श्री जीवन बंजारे, जिला पंचायत सदस्य श्रीमती यशोदा वर्मा, जनपद सदस्य श्री रामेश्वर रामटेके, जनपद पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्री ओझा सहित जनप्रतिनिधिगण एवं विभिन्न विभागों के अधिकारियों के अलावा बड़ी संख्या में ग्रामीण उपस्थित थे।

Back to top button