जय जगन्नाथ के जयकारों से गूंज उठा जोगी बंगला

रायपुर : महाप्रभु जगन्नाथ स्वामी उत्कल समाज के अराध्य देव हैं रथ यात्रा पर्व के दिन समाज में देखने लायक उत्साह का वतावरण रहता है, सुबह से ही छोटे बच्चे अपने बड़ों से रथ दुतिया देखने जाने के लिए रुपये पैसे मांगते हैं और बड़े उनकी मांग को पूरा कर उनकी खुशी को दुगुना कर देते हैं और सुख समृध्दि की कामना करते हैं। यह कहना था जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ (जे) के उत्कल विभाग के प्रदेश अध्यक्ष भगवानू नायक का। इस कड़ी में रथ यात्रा के पावन अवसर पर जोगी निवास में भजन संध्या की धूम रही जिसमें ओडिय़ा हिन्दी छत्तीसगढ़ी एक से बढ़कर एक भजन, कलाकारों ने प्रस्तुत किए।
कार्यक्रम में विशेषकर ओडि़सा कटक से आई भजन गायिका रश्मि म्याणा ने एक राधा एक मीरा दोंनो ने श्याम को चाहा……., शिव मेरी पूजा शिव से बढ़कर नहीं कोई दूजा…, गीत प्रस्तुत किया। छत्तीसगढ़ की लोक गायिका तारा साहू ने ओडि़सा का प्रसिध्द भजन, होय रे कांए मोहिनी लागी छे, कोजोले कालिया, सिंदुरे कालिया, मोते तो साबू कोला कोला दिखु छे….. गाकर खूब तालियां बटोरी इसी तरह गायक घनश्याम महानंद ने जोयो जोयो जोगोन्नाथों, मुरारी मोहोनों…… भजन गाए। गायक प्रीतम तांडी, संबलपुरी गायक प्रकाश जाल आदि ने उम्दा प्रस्तुति दी। हल्की बारिश के बावजूद लोग देर रात तक रथ यात्रा पर्व को देखने के बाद जोगी निवास पहुंचते रहे। कार्यक्रम का शुभारंभ मुख्य अतिथि पूर्व मंत्री व जनता कांग्रेस के वरष्ठि नेता विधान मिश्रा व कार्यक्रम अध्यक्ष पार्टी के राष्ट्रीय कोषाध्यक्ष गजराज पगारिया, मीडिया चेयरमेन इकबाल अहमद रिजवी, सांस्कृतिक विभाग की प्रदेशाध्यक्ष सीमा कौशिक, प्रमोद झा, प्रदेश प्रवक्ता व उत्कल विभाग के अध्यक्ष भगवानू नायक, उत्कल नेता बैकुंठ सोना, राजकुमार मेश्राम, प्रमोद वैद्य के द्वारा भगवान जगन्नाथ स्वामी के चित्र पर दीप प्रज्वलित कर किया गया। कार्यक्रम को संबोधित करते हुए विधान मिश्रा ने कहा कि भगवान जगन्नाथ की कृृपा दृष्टि हम सब पर बनी रहे हमें जोगी के रथ को छत्तीसगढ़ विधानसभा तक पहुंचाना हैं। कार्यक्रम को संबोधित करते हुए गजराज पगारिया ने कहा कि जगन्नाथ स्वामी जगत के नाथ हैं, उत्कल समाज भगवान जगन्नाथ स्वामी से अटूट प्रेम करता है, रायपुर राजधानी में उत्कल समाज की बहुत बड़ी संख्या हैं समाज के कल्याण के लिए उत्कल समाज का एक विधायक बनाना जरूरी है इसकी तैयारी में उत्कल विभाग जुट जाए। कार्यक्रम में युवराज बंजारे, राजू मेढ़े, उत्कल आर्टिस्ट युनियन के अध्यक्ष विष्णु तांडी, सुदर्शन बाघ, साधु राम हरपाल, सामंत नाग, मंगल छत्ती, हरिचरण महानंद, जयलाल नायक, मालिनी तांडी, कुमारी बाई प्रधान, सपना पांडे, फूलो भोई, जया बारिक, ममता महानंद, रानी बाघ सहित सैकड़ों लोग उपस्थित थे।

Back to top button