डोनाल्ड ट्रंप के काल में टूटी दो दशक पुरानी परंपरा, व्हाइट हाउस में नहीं मनाई गई ईद

नई दिल्ली: अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के कार्यकाल में लगभग दो दशक में पहली बार ऐसा हुआ है, जब रमज़ान का पाक महीना खत्म हो गया, लेकिन व्हाइट हाउस में कोई इफ्तार या ईद समारोह आयोजित नहीं किया गया, जैसा बिल क्लिंटन, जॉर्ज बुश और बराक ओबामा के कार्यकालों में होता रहा है.

समाचारपत्र ‘वाशिंगटन पोस्ट’ के मुताबिक, व्हाइट हाउस के कई पूर्व कर्मचारियों ने बताया कि वे आमतौर पर इफ्तार की तैयारियां कई-कई महीने पहले शुरू कर दिया करते थे, और उन्हें कतई उम्मीद नहीं थी कि इस बार रमज़ान खत्म होने से पहले ट्रंप प्रशासन कोई समारोह आयोजित करेगा.

इस मुद्दे पर टिप्पणी करने के लिए बार-बार अनुरोध किए जाने पर भी व्हाइट हाउस अधिकारियों से कोई जवाब नहीं मिला, लेकिन शनिवार को दोपहर बाद व्हाइट हाउस से एक संक्षिप्त बयान जारी किया गया, जो राष्ट्रपति तथा प्रथम महिला की ओर से था.

“अमेरिका में रहने वाले मुस्लिमों ने भी रमज़ान के पाक महीने में दुनियाभर में फैले धर्मावलंबियों की ही तरह आस्था और परोपकार पर ध्यान केंद्रित किया… अब, जब वे अपने परिवार और मित्रों के साथ ईद मना रहे हैं, वे पड़ोसियों की सहायता करने और हर वर्ग के लोगों के साथ मिल-बांटकर भोजन करने की परंपरा को आगे बढ़ा रहे हैं… इस अवसर पर हमें दया, संवेदना और सद्भाव के महत्व को समझना है… दुनियाभर के मुस्लिमों के साथ अमेरिका भी इन मूल्यों का सम्मान करने की प्रतिबद्धता को दोहराता है… ईद मुबारक…”

मई माह के अंत में ही अमेरिकी विदेशमंत्री रेक्स टिलरसन ने कथित रूप से कहा था कि विदेश मंत्रालय हालिया परंपरा से अलग जाएगा, और रमज़ान स्वागत समारोह का आयोजन नहीं करेगा, जो वह पिछले दो दशक से लगातार हर साल करता आ रहा है. शनिवार सुबह टिलरसन ने भी एक संक्षिप्त बयान जारी कर ‘ईद-उल-फितर मना रहे सभी मुस्लिमों को हार्दिक शुभकामनाएं’ दीं.

Back to top button