ढोलकल पर सेल्फी खिंचवाने की मची होड़

चट्टान और प्रतिमा को खतरा, हादसे की भी आशंका 

दंतेवाड़ा: जिले की सीमा पर समुद्र तल से करीब 3500 फीट की ऊंचाई पर स्थित ढोलकल शिखर है। इस प्राचीन गणेश प्रतिमा के साथ सेल्फी खिंचवाने की होड़ खतरनाक होती जा रही है। इससे चट्टान और ऐतिहासिक प्रतिमा को खतरा बना हुआ है।

पुरातत्व विभाग और स्थानीय प्रशासन ने इस पर नियंत्रण के लिए कोई कदम नहीं उठाया है। सालभर पहले 27 जनवरी को ढोलकल की इस प्रतिमा को अज्ञात लोगों ने नीचे गिराकर खंडित कर दिया था। इसी वक्त पुरातत्व विभाग के विशेषज्ञों ने चट्टान में आई हल्की दरार के बारे में आगाह किया था।

मूर्ति को फिर से जोडऩे वाले पुरातत्व विशेषज्ञ और सहायक संचालक प्रभात सिंह ने भी इस संबंध में चिंता जताई थी । लेकिन सेल्फी खिंचवाने वालों की भीड़ लगातार बढ़ती जा रही है। 

पर्यटन और ट्रैकिंग से जुड़े कुछ युवाओं के समूह ने इस जगह तक पहुंचने से रोकने के लिए कोशिश की। इसके लिए यहां तक लगे पत्थरों को हटाया भी गया था। लेकिन इसके बावजूद लोगों ने फिर से यहां चढऩा शुरू कर दिया है। इतना ही नहीं, पूजा के लिए यहीं पर पत्थर पटककर नारियल भी फोड़ा जा रहा है।

चट्टान का ऊपरी हिस्सा बमुश्किल डेढ़ वर्गमीटर चौड़ा है, जिस पर भगवान गणेश की प्राचीन प्रतिमा स्थापित है। इसी जगह पर समूहों में एक साथ लोग चढ़कर सेल्फी खिंचवाने लगे हैं, जिससे कभी भी इस चट्टान को नुकसान होने की आशंका बढ़ी है।

1
Back to top button