‘दमन’ सरकार के खिलाफ ‘आप’ छेड़ेगी आंदोलन

रमन के 'दमन चक्र' के खिलाफ पूरे छत्तीसगढ़ में चलेगा प्रदर्शनों का सिलसिला

रायपुर।

राज्य सरकार के इशारे पर जेल में निरुद्ध आम आदमी पार्टी (‘आप’) के प्रदेश संयोजक डॉ. संकेत ठाकुर सहित 12 पदाधिकारियों के खिलाफ गैर—जमानती धारा 147, 151, 186, 332, 353, 419 के तहत की गई कार्रवाई झूठी साबित हुई है।

रायुपर जिला एवं सत्र न्यायालय में पुलिस की कोई दलील पार्टी के पदाधिकारियों की जमानत नहीं रुकवा सकी। छत्तीसगढ़ में ‘आप’ के चुनाव प्रबंधन प्रभारी राकेश सिन्हा ने इस सफलता के बाद डॉ. रमन सिंह की सरकार को चेतावनी दी कि राज्य में आम आदमी की आवाज अब और अधिक समय तक कुचली नहीं जा सकेगी।

भाजपा के ‘कांग्रेसीकरण’ को राज्य की आम जनता अब और नहीं सहेगी। ‘आप’ एक नया विकल्प बनकर उनके सामने उभरी है। यह पार्टी संघर्षों से नहीं डरती।

>वहीं, प्रदेश संयोजक डॉ. संकेत ठाकुर ने मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह के ‘दमन चक्र’ के खिलाफ पूरे छत्तीसगढ़ में आंदोलन छेड़ने की घोषणा कर दी है। पार्टी हर उस आदमी के साथ खड़ी होगी, जिस पर मौजूदा राज्य सरकार ने वर्षों से जुल्म ढाए हैं।

‘आप’ के राज्यसभा सांसद सुशील गुप्ता ने प्रदेश में रमन सिंह के दमनकारी शासन का विरोध करते हुए कहा कि इंदिरा गांधी के आपातकाल को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश के इतिहास का काला अध्याय बताया तो उन्हें डॉ. रमन सिंह के अघोषित राजनीतिक ‘आपातकाल’ का भी जिक्र करना चाहिए था। राज्यसभा सांसद सुशील गुप्ता आज मीडिया को संबोधित करने वाले हैं।

वहीं, ‘आप’ के छत्तीसगढ़ संयोजक डॉ. संकेत ठाकुर ने बताया कि वह पुलिस परिवारों के समर्थन में 2 जुलाई को उपवास पर बैठेंगे। पूरे प्रदेश में आदमी पार्टी के कार्यकर्ता पुलिसकर्मियों के परिजनों को उनका जायज हक दिलाने के लिए उपवास करेंगे। 3 जुलाई से पार्टी राज्य के सभी जिलों में जन—सम्मलेन आयोजित करेगी और दमन सिंह सरकार हटाओ अभियान छेड़ेगी। राज्य सरकार के खिलाफ प्रदर्शन का सिलसिला पूरे जुलाई महीने के दौरान चलेगा।

Back to top button