नैसर्गिक संपदा का दोहन उद्योगपतियों के लिए : भूपेश

रायपुर : पूरे प्रदेश के जो नैसर्गिक संपदा का दोहन हो रहा है और ये दोहन केवल बहुत बड़े उद्योगपतियों के लिये है। ये बातें प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष भूपेश बघेल ने कांग्रेस भवन में कही। उन्होंने कहा कि, यहां के लोगों को कोई रोजगार नहीं मिल रहा है।

जो रोजगार मिले थे वो सब छीने जा रहे है और शासकीय योजनाओं में जो रोजगार मिलता था उसमें आउटसोर्सिंग के माध्यम से सरकारी नौकरी दी जा रही है। छत्तीसगढ़ के लोग बेरोजगार हो रहे हैं, 22 लाख बेरोजगार रजिस्टर्ड हैं । उतने ही बेरोजगार अनरजिस्टर्ड है। कुल मिलाकर 44-45 लाख बेरोजगार है। इससे स्पष्ट हो जाता है कि सरकार में लोगों को रोजगार नहीं मिला है। 

सर्व आदिवासी समाज की ओर से शराबबंदी की मांग को लेकर प्रश्नों के उत्तर देते हुये प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष भूपेश बघेल ने कहा है कि बहुत ही अच्छी बात है कि सर्व आदिवासी समाज की ओर से इस प्रकार से मांग की जा रही है। आदिवासी अंचल में लगातार इस प्रकार से शिकायतें मिल रही हैं चाहे कांकेर, चाहे कोण्डागांव, चाहे बस्तर में लगातार मांग उठ रही है कि शराबबंदी की जाये।

advt
Back to top button