भूस्खलन से भीषण तबाही, 15 की मौत और 120 लापता

नई दिल्ली: चीन के सिचुआन प्रांत में शनिवार को भूस्खलन में 15 लोगों की मौत हो गई, जबकि 62 घरों के 120 से अधिक लोग लापता .उनके मलबे में दबे होने की आशंका है. समाचार एजेंसी सिन्हुआ की रविवार की रिपोर्ट के अनुसार, बचाव दल के मुख्यालय ने बताया कि शनिवार रात मलबे से 15 लोगों के शव निकाले गए. खोज एवं बचाव अभियान रात भर जारी रहा. बचाव दल के सदस्य जीवन के संकेत मिलने वाले यंत्रों और खोजी कुत्तों के साथ क्षेत्र की तालाशी कर रहे हैं, लेकिन इस दिशा में कोई सकारात्मक संकेत नहीं मिला है.

एक बचाव दल ने कहा, ‘हम हार नहीं मानेंगे.’ एबा तिब्बती एवं कियांग स्वायत्त प्रांत के कार्यकारी उप-गवर्नर शु झीवेन ने बताया कि लापता 118 लोगों की पहचान जल्द ही वेबसाइट पर सार्वजनिक की जाएगी. शु ने यह भी कहा कि भूस्खलन में कुछ पर्यटक भी फंसे हो सकते हैं, क्योंकि यह गांव पर्यटक स्थल है. भूस्खलन के कारण एक नदी का दो किलोमीटर का हिस्सा बाधित हो गया और 1600 मीटर सड़क भी धंस गई.

प्रांतीय सरकार ने उच्चतम स्तर पर आपदा राहत कार्य शुरू कर दिया है और साइट पर बचाव टीम भेजी गई है. हाल में, जीवन की पहचान करने वाले यंत्रों के साथ 3,000 से अधिक कर्मी जीवित लोगों की तलाश में लगे हैं. भूवैज्ञानिक विशेषज्ञों ने कहा कि दबे लोगों के लिए जीवित होने की संभावना वास्तव में कम ही है. एक परिवार के तीन सदस्यों को भूस्खलन में पांच घंटे दफन होने के बाद बाहर निकाला गया, जिन्हें मॉक्सिकन काउंटी अस्पताल ले जाया गया. उनके जीवन को खतरा नहीं है. लेकिन उसी परिवार का एक तीन साल का बच्चा अब भी मलबे में दबा है.

Back to top button