महानदी भवन में छत्तीसगढ़ी भाषा का तीन दिवसीय प्रशिक्षण शुरू

रायपुर : राज्य शासन के दिशा-निर्देशों के अनुरूप यहां मंत्रालय (महानदी भवन) में अधिकारियों और कर्मचारियों के लिए तीन दिवसीय छत्तीसगढ़ी भाषा का प्रशिक्षण कार्यक्रम का आयोजन किया गया है। छत्तीसगढ़ राज भाषा आयोग के सहयोग से मंत्रालय के अधिकारियों और कर्मचारियों के तीन दिवसीय प्रशिक्षण कार्यक्रम का आज पहला दिन था।
इस अवसर पर आयोग के अध्यक्ष डॉ. विनय कुमार पाठक और सचिव डॉ. सुरेन्द्र दुबे ने अधिकारियों और कर्मचारियों को छत्तीसगढ़ी भाषा का व्यवहारिक प्रशिक्षण दिया। आयोग द्वारा तीन दिन में लगभग 400 अधिकारियों और कर्मचारियों को प्रशिक्षण दिया जाएगा।
डॉ. विनय पाठक ने कहा कि, हिन्दी भाषा जानने वाले सभी लोग छत्तीसगढ़ी भाषा को भी आसानी से सीख और समझ सकते हैं। श्री पाठक ने कहा कि छत्तीसगढ़ राजभाषा आयोग सरकारी काम-काज एवं लोक व्यवहार में छत्तीसगढ़ भाषा के उपयोग में हर संभव सहयोग प्रदान करेगा। उन्होंने कर्मचारियों से कहा कि छत्तीसगढ़ राजभाषा आयोग की वेबसाईट छत्तीसगढ़ राजभाषा आयोग डॉट कॉम पर जाकर छत्तीसगढ़ी भाषा के बारे में जानकारी ली जा सकती है।
आयोग के सचिव डॉ. सुरेन्द्र दुबे ने भी प्रशिक्षणार्थियों को संबोधित किया। मंत्रालयीन कर्मचारी संघ के अध्यक्ष कीर्तिवर्धन उपाध्याय ने आयोग के अध्यक्ष और सचिव का स्वागत किया। प्रशिक्षण कार्यक्रम में डॉ. विनय पाठक और डॉ. सुरेन्द्र दुबे ने प्रशिक्षणार्थियों की विभिन्न जिज्ञासाओं का रोचक ढंग से समाधान किया। इस अवसर पर प्रशिक्षणार्थियों को हिन्दी से छत्तीसगढ़ी एवं अंग्रेजी से छत्तीसगढ़ी का शब्दकोष भी प्रदान किया गया।

Back to top button