मुंबई भगदड़ : चश्‍मदीदों की जुबानी, हादसे की कहानी

मुंबई: ऐलफिंस्‍टन रेलवे स्‍टेशन पर हुई भगदड़ के कारणों के बारे में अभी कोई आधिकारिक जानकारी नहीं आई है लेकिन चश्‍मदीदों ने घटना के लिए अफवाह को जिम्‍मेदार माना है. घटनास्‍थल पर मौजूद कई चश्‍मदीदों ने बताया कि पुल टूटने की अफवाह के चलते यह हादसा हुआ. दरअसल भारी बारिश के बीच बेहद भीड़-भाड़ वाले इस स्‍टेशन में पुल टूटने की अफवाह फैल गई. एक चश्‍मदीद ने बताया कि उसके बाद मची भगदड़ में लोग उसने कई लोगों को अपनी जान बचाने के लिए फुटओवर ब्रिज की रेलिंग से नीचे कूदते हुए देखा. कई चश्‍मदीदों ने बताया कि लोग चीख रहे थे कि पुल टूट रहा है.

इस घटना के कई वीडियो में दिख रहा है कि कई लोग भगदड़ से बचने के लिए सीढि़यों की रेलिंग में चढ़ गए. एक अन्‍य चश्‍मदीद ने यह भी बताया कि पुल का एक मामूली सा हिस्‍सा टूटा था, उसी के चलते उपजी अफवाह के कारण भगदड़ मची. कई लोगों का यह भी कहना है कि एलफिंस्‍टन स्‍टेशन के पास का ब्रिज बेहद संकरा है और ऑफिस के टाइम पर वहां बहुत भीड़ होती है. कुछ लोगों ने शिकायती लहजे में भी कहा कि यहां पर नए ओवरब्रिज की मांग काफी लंबे समय से होती रही है लेकिन इस दिशा में कोई काम नहीं हुआ.

राज्य सरकार की तरफ से हादसे में मारे गए लोगों के परिजन को पांच-पांच लाख रुपये देने की घोषणा की है. इसके अलावा राज्य सरकार ने घायलों के इलाज की बात कही है. बारिश के कारण फुटओवर ब्रिज पर भीड़ ज्यादा थी. हादसा सुबह करीब 10.30 बजे हुआ. मुंबई में 10.20 बजे बारिश शुरू हुई, जिसके बाद बारिश से बचने के लिए फुटओवर ब्रिज पर लोगों की भीड़ जुटने लगी.

हादसे पर राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने दुख जताया है. राष्ट्रपति के आधिकारिक टि्वटर हैंडल पर पोस्ट किया गया है, ‘‘मुंबई में भगदड़ के हादसे से गहरा दुःख हुआ. शोक संतप्त परिवारों के प्रति संवेदना; घायलों के लिए प्रार्थना.’’

पीएम मोदी ने अपने ट्विटर अकाउंट से ट्वीट करते हुए हादसे पर दुख जताया. उन्होंने टि्वटर पर लिखा है, ‘‘मुंबई में मची भगदड़ में जिन लोगों की जान गयी है उनके प्रति मेरी गहरी संवेदनाएं. मेरी प्रार्थनाएं घायलों के साथ हैं.’’ उन्होंने लिखा है, ‘‘मुंबई में हालात पर लगातार नजर रखी जा रही है. पीयूष गोयल मुंबई में हैं और हालात का जायजा लेते हुए हरसंभव सहायता सुनिश्चित कर रहे हैं.’’

हादसे के बाद रेल मंत्री पीयूष गोयल घटनास्थल पर पहुंच गए हैं. उन्होंने राहत और बचाव कार्य का जायजा लिया. मीडिया से बातचीत में रेल मंत्री ने कहा कि यात्रियों की सुरक्षा ही हमारा मकसद है. उन्होंने हादसे में मारे गए लोगों के परिवारों के प्रति संवेदना व्यक्त की और मृतकों के परिजनों से भी मुलाकात की.

Back to top button