मुद्रा कैंप में जिले के महिला स्वयं सहायता समूहों के कार्यों की प्रसंशा की

राजनांदगांव : कलेक्टर श्री भीम सिंह ने स्वरोजगार एवं सशक्तिकरण के लिए जिले के महिला स्व सहायता समूहों एवं महिलाओं के द्वारा किए जा रहे कार्यों की भूरी-भूरी प्रशंसा की है। कलेक्टर श्री भीम सिंह ने आज 27 जून को पद्मश्री गोविंद राम निर्मलकर ऑडिटोरियम राजनांदगांव में पंजाब नेशनल बैंक द्वारा आयोजित मुद्रा कैंप को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि जिले की महिलाएं बिहान योजनांतर्गत अपने व्यवसाय के लिए ऋण लेकर तथा समय पर उसका आदयगी कर बिहान योजना के उद्देश्यों एवं विश्वास पर निरंतर खरे उतर रहीं है। कार्यक्रम में जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्री चंदन कुमार पंजाब नेशनल बैंक के मंडल प्रबंधक श्री राजीव खेड़ा एवं लीड बैंक प्रबंधक श्री काजल गुप्ता भी विशेष रूप से उपस्थित थे।
इस अवसर पर कलेक्टर श्री भीम सिंह ने बिहान के माध्यम से महिला सशक्तिकरण हेतु किये जा रहे कार्यों की जानकारी देते हुए बिहान के महत्व एवं उद्देश्यों के संबंध में जानकारी दी। उन्होनें कहा कि एक समय था जब बैंकों के द्वारा लोगों के ऋण स्वीकृति के लिए रूचि नहीं ली जाती थी। लेकिन आज बैंकों के द्वारा प्राथमिकता के साथ लोगों का ऋण स्वीकृत किया जा रहा है। इसके साथ ही बड़ी संख्या में हितग्राही भी बैंकों से ऋण लेने हेतु आवेदन कर रहे हैं। उन्होनें बिहान योजनांतर्गत बैंकों से इंट्रेस्ट सब्सिडी देने की भी जानकारी दी। कलेक्टर ने कहा कि इस योजना के माध्यम से बैंकों से ऋण लेकर अपने व्यापार व्यवसाय में उपयोग कर अपने परिवार की गरीबी भी दूर की जा सकती है। उन्होनेें कहा कि इस योजना का उद्देश्य काफी व्यापक एवं दूरगामी है। यह योजना महिला सशक्तिकरण, कुपोषण मुक्ति एवं महिलाओं को आर्थिक संबलता प्रदान करने में निर्णायक भूमिका अदा करेगी। श्री भीम सिंह ने उपस्थित महिलाओं को प्रधानमंत्री मुद्रा योजना की महत्व की जानकारी देते हुए जिले के महिला समूहों को इस योजना का लाभ उठाने हेतु आगे आने की अपील की। उन्होनें आशा व्यक्त किया कि आज इस योजना के माध्यम से ऋण लेने वाली महिलाएं एवं महिला स्व सहायता समूह भविष्य में ऋण बांटने वाले भी बनेगें।
इस अवसर पर सीईओ जिला पंचायत श्री चंदन कुमार ने उपस्थित लोगों का जिला प्रशासन की ओर से स्वागत एवं अभिनंदन किया। श्री चंदन कुमार ने कहा कि वास्तव में कीमत उसी चीज की होती है, जिनकों मेहनत एवं पुरूषार्थ से प्राप्त की जाए। जिले के महिलाओं ने बिहान योजनांतर्गत बैंकों से ऋण लेकर तथा उनका सदुपयोग करते हुए ऋण का एक-एक पैसे चुका कर इस उक्ति को चरितार्थ किया है। जिले की महिलाएं बैंकों से लिए गये ऋण का उपयोग व्यापार-व्यवसाय, खेती-किसानी जैसे कार्यों के लिए कर आर्थिक रूप से स्वालंबी एवं आत्मनिर्भर बन रहीं है। श्री कुमार ने व्यापार-व्यवसाय को बढ़ावा देने हेतु जरूरतमंद लोगों को आसानी से ऋण स्वीकृत करने हेतु पंजाब नेशनल बैंक के प्रयासों की भी प्रसंशा की। उन्होनें जिले के महिला स्वयं सहायता समूहों के कार्यों की प्रसंशा करते हुए कहा कि वर्तमान में जिले के महिला स्व सहायता समूह स्वयं में एक बैंक है। आज जिले के महिला स्व सहायता समूह स्वालंबन की ओर बढ़ चुके हैं। उन्होनें महिला स्व सहायता समूहों को समाज के दबे-कुचले एवं वंचित वर्ग के महिलाओं को भी समूह में जोड़कर उनके जीवन को सजाने और संवारने में भागीदारी निभाने की अपील की। जिससे की समाज के सभी वर्ग के लोगों को आगे बढऩे का अवसर प्राप्त हो सकें। उन्होनें उल्लेखनीय कार्यों के लिए आज सम्मानित होने वाली महिलाओं को अपनी बधाई एवं शुभकामनाएं भी दी।
कार्यक्रम में स्वागत भाषण प्रस्तुत करते हुए पंजाब नेशनल बैंक के जोनल मैनेजर श्री राजीव खेड़ा ने कार्यक्रम के उद्देश्यों के संबंध में जानकारी दी। इस अवसर पर डिजिटल लेन-देन को बढ़ावा देने हेतु प्रारंभ की गई ‘भीम एप्पÓ के संबंध में भी जानकारी दी गई। कार्यक्रम में जिले के विभिन्न महिला स्व सहायता समूहों डेमो चेक का वितरण एवं राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन योजनांतर्गत महिला स्व सहायता समूहों को बैंक लिंकेज की स्वीकृति भी प्रदान की गई। कार्यक्रम में पंजाब नेशनल बैंक के मुख्य प्रबंधक श्री पाण्डे, सहायक संचालक हाथकरघा श्री हेडऊ, जनपद पंचायत राजनंादगांव के मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्री रोशनी भगत टोप्पो सहित बैंक अधिकारी एवं महिला स्व सहायता समूहों के सदस्यों के अलावा आम नागरिक उपस्थित थे।

Back to top button