राजधानी में राज्यपाल ने किया ध्वजारोहण, राज्य वीरता पुरस्कार से 7 बच्चे सम्मानित, 29 पुलिस अधिकारियों को मिला पदक-अलंकरण

रायपुर: छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर में 69 वां गणतंत्र दिवस समारोह अत्यंत हर्ष और उल्लास के साथ मनाया गया। राज्य स्तरीय मुख्य समारोह यहां पुलिस परेड मैदान में संपन्न हुआ।

राज्यपाल बलरामजी दास टण्डन ने गरिमामय वातावरण में ध्वजारोहण कर परेड की सलामी ली। उन्होंने इस अवसर पर छत्तीसगढ़ राज्य बाल कल्याण परिषद की ओर से 7 नन्हें बच्चों को राज्य वीरता पुरस्कार से सम्मानित किया। छत्तीसगढ़ पुलिस की विभिन्न पुरस्कार योजनाओं के अंतर्गत उल्लेखनीय कार्यों के लिए 29 पुलिस अधिकारियों और कर्मचारियों पुरस्कृत किया गया।

स्कूली बच्चों ने इस अवसर पर देशभक्तिपूर्ण धुनो पर राज्य के विकास और संस्कृति को उकेरते हुए मनोरम प्रस्तुतियां दी। राज्य के विकास और विभिन्न जनकल्याणकारी योजनओं को प्रदर्शित सरकारी विभागों द्वारा झांकी भी निकाली गई, जिसे दर्शकों ने बड़ी दिलचस्पी के साथ अवलोकन किया। सुरक्षा बलों, एनसीसी, स्काऊट-गाईड द्वारा इस अवसर पर आकर्षक मार्च पास्ट किया गया।

नौ बच्चों को मिला राज्य वीरता पुरस्कार

छत्तीसगढ राज्य बाल कल्याण परिषद की ओर से 7 बच्चों को राज्य वीरता पुरस्कार प्रदान किया गया। इनमें कृष्णा सेठिया, आमागुड़ा जगदलपुर, झगेन्द्र साहू एवं रितिक साहू रायपुर, कु. खेमलता साहू ग्राम सौंगा जिला धमतरी, कुमारी खुशी साहू रामसागर पारा, रायपुर, प्रशांत सिदार, ग्राम पंचधार,सरिया जिला रायगढ़ और कुमारी लक्ष्मी यादव शक्तिनगर रायपुर शामिल हैं।

राज्य पुलिस के 29 अधिकारियों और कर्मचारियों को पदक-अलंकरण

राज्यपाल ने उत्कृष्ट सेवाओं के लिए राज्य पुलिस, जेल एवं नगर सेना के 29 अधिकारियों और कर्मचारियों को सम्मानित किया। इनमें पुलिस वीरता पदक के अंतर्गत शहीद श्री अविनाश शर्मा, उप निरीक्षक जिला कांकेर, श्री लक्ष्मण केंवट, निरीक्षक जिला राजनांदगांव, शहीद श्री शंकर राव प्लाटून कमाण्डर एसटीएफ बघेरा जिला दुर्ग, श्री गोरखनाथ बघेल अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक दंतेवाड़ा और श्री रामेश्वर देशमुख निरीक्षक जिला बीजापुर शामिल हैं। विशिष्ट सेवा के लिए राष्ट्रपति का पुलिस पदक सम्मान से वरिष्ठ आईपीएस अधिकारी श्री अरूण देव गौतम को नवाजा गया है। सराहनीय सेवा के लिए भारतीय पुलिस पदक पाने वालों में श्री प्रखर पाण्डेय पुलिस अधीक्षक, मुख्यमंत्री सुरक्षा, श्री अरविन्द कुमार कुजूर पुलिस अधीक्षक, ईओडब्ल्यू रायपुर, श्री तिलकराम कोशिमा एसपी बलरामपुर, डॉ. लाल उमेद सिंह, एसपी कबीरधाम, श्री महेन्द्र कुमार यादव कम्पनी कमाण्डर, एसटीएफ बघेरा दुर्ग, श्री जगमोहन कुंजाम, प्रधान आरक्षक बेमेतरा, श्री संतोष कुमार लोधी प्रधान आरक्षक , जिला बस्तर तथा श्री राजेन्द्र कुमार देशमुख प्रधान आरक्षक जिला दुर्ग शामिल हैं। गृह रक्षक एवं नागरिक सुरक्षा पदक से श्री शेखर नारायण बोरवणकर जिला सेनानी, नगर सेना दुर्ग, श्री धरमदास साहू हवलदार नगर सेना राजनांदगांव, श्री राम अनुग्रह विश्वकर्मा हवलदार नगर सेना अम्बिकापुर, श्री नरोत्तमलाल नेताम, नायक ,नगर सेना राजनांदगांव, श्री चुमनलाल नामदेव, नायक, नगर सेना जगदलपुर को सम्मानित किया गया है। सराहनीय सुधार सेवा पदक से श्री जगनलाल कचलरिया, शीघ्रलेखक ग्रेड-2, मुख्यालय जेल रायपुर, श्री उत्तम कुमार पटेल, उप जेल अधीक्षक केन्द्रीय जेल रायपुर, श्री छबि प्रसाद शर्मा मुख्य प्रहरी जिला जेल कोरबा, श्री श्यामसुन्दर धु्रव, मुख्य प्रहरी उप जेल सूरजपुर, श्री सन्नी अहमद टोप्पो मुख्य प्रहरी, उप जेल सूरजपुर तथा श्री होतम सिंह मौर्य मुख्य प्रहरी जिला जेल जशपुर  सम्मानित किए गए हैं। इसी प्रकार यूनियन होम मिनिस्टर मेडल से श्री श्याम सुन्दर शुक्ला सेवानिवृत्त उप पुलिस अधीक्षक, राज्य पुलिस अकादमी, चंदखुरी, श्री ओंकार सिंह राजपूत कम्पनी कमाण्डर, प्रथम वाहिनी, भिलाई, श्री भगवत सिंह तोमर प्लाटून कमाण्डर पुलिस प्रशिक्षण विद्यालय, माना, रायपुर तथा श्री मनहरण वर्मा प्रधान आरक्षक राज्य पुलिस अकादमी चंदखुरी से सम्मानित किया गया है।

आकर्षक मार्च पास्ट का आयोजन

पुलिस परेड मैदान में विभिन्न सुरक्षा बलों, एनसीसी, पुलिस बल, नगर सेना की विभिन्न टुकड़ियों द्वारा आकर्षक मार्च पास्ट किया गया।  भारतीय पुलिस सेवा के अफसर श्री सूरज सिंह के नेतृत्व में 21 टुकड़ियों ने राष्ट्रीय धुन के साथ मार्च पास्ट कर मुख्य अतिथि को सलामी दी।

परेड में सीमा सुरक्षा बल, केन्द्रीय रिजर्व पुलिस बल, सशस्त्र सीमा बल, भारत तिब्बत सीमा बल, केन्द्रीय औद्योगिक सुरक्षा बल, झारखण्ड सशस्.त्र पुलिस, छत्तीसगढ़ सशस्त्र बल, जिला पुलिस बल की पुरूष और महिला टीम, जेल प्लाटून, नगर सेना पुरूष एवं महिला दल, एनसीसी सीनियर डिविजन ब्वायज, एयर विंग, एनसीसी सीनियर विंग गर्ल्स, नेवल यूनिट, एनसीसी जूनियर डिविजन ब्वायज, एनएसएस गर्ल्स, स्काउट एण्ड गाईड तथा बैण्ड प्लाटून के अनुशासित तरीके से परेड कर दर्शकों का ध्यान आकृष्ट किया।

शानदार परेड के लिए केन्द्रीय बल के अंतर्गत बीएसएफ को प्रथम, सीआरपीएफ को दूसरा और भारत तिब्बत को तीसरा पुरस्कार प्रदान किया गया। राज्य सुरक्षा बल के अंतर्गत पहला पुरस्कार छत्तीसगढ़ की महिला पुलिस बल, दूसरा स्थान का पुरस्कार छत्तीसगढ़ सशस्त बल और तीसरे स्थान का पुरस्कार झारखण्ड विशेष पुलिस को प्राप्त हुआ।  जूनियर विंग के अंतर्गत प्रथम स्थान पर एनसीसी एयर विंग, दूसरे स्थान पर एनसीसी एयर विंग गर्ल्स और तीसरा स्थान स्काऊट गर्ल्स को मिला है। श्रेष्ठ प्रदर्शन के लिए बैण्ड प्लाटून को ट्राफी प्रदान की गई।

स्कूली बच्चों ने दिए नयनाभिराम सांस्कृतिक कार्यक्रम    

मुख्य समारोह में लगभग 500 स्कूली बच्चों ने तीन अलग-अलग समूह में सांस्कृतिक कार्यक्रमों की प्रस्तुतियां दी। उत्तरी क्षेत्र, मध्य क्षेत्र और दक्षिण क्षेत्र के रूप में बच्चों ने रा‘ज्य के विकास और सांस्कृतिक विरासत को आकर्षक तरीके से प्रदर्शित किया।  उत्तरी क्षेत्र सरगुजा से आए 170 बच्चों ने राज्य मंे समाज के सभी वर्गों के लिए पिछले चौदह सालों में हुए विकास कार्य को सुन्दर तरीके से प्रदर्शित किए।

मध्य क्षेत्र के बच्चांे ने कन्य भु्रण हत्या के विरूद्ध नृत्य और संगीत के जरिए संदेश दिया। दक्षिण क्षेत्र के लगभग डेढ़ सौ छात्र-छात्राओं ने नृत्य के जरिए शहीद वीरनारायण सिंह के स्वतंत्रता आंदोलन में योगदान को रेखांकित किया। संास्कृतिक कार्यक्रम का प्रथम पुरस्कार दक्षिण क्षेत्र, दूसरा पुरस्कार उत्तर क्षेत्र और तीसरा पुरस्कार मध्य क्षेत्र को प्राप्त हुआ। बस्तर के मुरिया जनजाति की ककसार नृत्य, बैगा और गोड आदिवासियों का करमा नृत्य तथा सरगुजा के बायर नृत्य ने भी लोगों का मन मोह लिया।

झांकियों में दिखा चौदह साल के विकास की झलक

छत्तीसगढ़ के विगत चौदह साल के विकास की झलक को दिखाते हुए विभिन्न विभागों द्वारा झांकिया भी निकाली गई। पहली बार मुख्य समारोह के साथ-साथ नगर के प्रमुख चौक-चौराहों पर यह झंांकिया गुजरी, जिससे अधिकाधिक लोगों ने इनका अवलोकन किया।  कृषि विभाग की झांकी में प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई योजना और प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना को फोकस किया गया था।

ऊर्जा विभाग ने सौभाग्य योजना, सौर सुजला योजना और उदय योजना का मॉडल दिखाते हुए इससे आए जनजीवन में आए बदलाव को दिखाया गया । ग्रामोद्योग विभाग की झांकी में बेलमेटल शिल्पकार, भित्ती चित्र  और लौह शिल्प से निर्मित आदिवासी नृत्य को प्रदर्शित किया गया ।

जेल विभाग की झांकी में कैदियों में कौशल  विकास को प्रमुखता से दिखाया गया। नगरीय प्रशासन एवं विकास विभाग द्वारा कचरे का प्रबंधन करना और इसके लिए लोगो को जागरूक करने पर जोर दिया गया। पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग ने प्रधानमंत्री आवास योजना, सांसद आदर्श ग्राम और विधायक आदर्श ग्राम , महिला एवं बाल विकास विभाग ने मुख्यमंत्री सुपोषण अभियान, वन विभाग ने  लघु वनोपज का सही दाम और सही काम की थीम, समाज कल्याण विभाग द्वारा मुख्यमंत्री तीर्थ यात्रा योजना, स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग ने प्रधानमंत्री मातृत्व सुरक्षा योजना और मुख्यमंत्री कौशल विकास येाजना को फोकस करते हुए राज्य में इनकी उपलब्धियों पर प्रकाश डाला। एक भारत श्रेष्ठ भारत की थीम पर गुजरात राज्य ने भी अपनी झांकी प्रदर्शित की। भिलाई इस्पात संयत्र और एनएमडीसी ने भी झांकी के जरिए अपनी गतिविधियेां और सामाजिक उत्तरदायित्व के काम को दिखाया।

1
Back to top button