0-2 से पिछड़ चुकी दक्षिण अफ्रीकी टीम अब तलाश रही किस्मत का साथ

कप्तान फाफ डू प्लेसिस टेस्ट सीरीज के दोनों मैचों में टॉस हार चुके

रांची:दक्षिण अफ्रीकी कप्तान फाफ डू प्लेसिस टेस्ट सीरीज के दोनों मैचों में टॉस हार चुके हैं. उन्होंने हार का ठीकरा टॉस पर तो नहीं फोड़ा, लेकिन इशारों में इसे एक वजह जरूर माना.

शायद यही कारण है कि वे शनिवार से शुरू हो रहे तीसरे टेस्ट में टॉस से बचना चाहते हैं. डू प्लेसिस रांची मे होने वाले तीसरे टेस्ट मैच में टॉस के दौरान खुद मैदान पर नहीं आएंगे.

दक्षिण अफ्रीकी कप्तान फाफ डू प्लेसिस एशिया में अब तक लगातार नौ बार टॉस हार चुके हैं. जब मैच में पिच और मौसम निर्णायक भूमिका निभाते हैं, तब टॉस अहम हो जाता है. लेकिन फाफ डू प्लेसिस यह भरोसा खो चुके हैं कि वे टॉस जीत सकते हैं.

शायद यही वजह है कि वे तीसरे टेस्ट मैच में अपनी जगह किसी और खिलाड़ी को टॉस के लिए भेजेंगे. फाफ ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में बताया कि वह टॉस के लिए मैदान पर नहीं जाएंगे.

फाफ डू प्लेसिस ने कहा कि उनके बल्लेबाजों को पहली पारी का लाभ उठाना होगा. उन्होंने कहा, ‘हमें पहली पारी में बड़े रन बनाने होंगे. जब आप पहली पारी में रन बनाते हैं तो वहा से कुछ भी संभव है.

हमारे लिए पहली पारी में रन बहुत महत्वपूर्ण है और दूसरी पारी में कुछ भी हो सकता है.’ भारत तीन मैचों की यह सीरीज पहले ही अपने नाम कर चुका है. मेहमान टीम की नजरें अखिरी मैच को जीतकर अपने खोए हुए सम्मान को पाने पर होगी.

भारतीय टीम तीन मैचों की टेस्ट सीरीज के पहले दोनों मैच जीतकर 2-0 से अजेय बढ़त बना चुकी है. उसने पहला मैच 200 रन से अधिक के अंतर से जीता था. फिर दूसरा टेस्ट मैच पारी व 137 रन के अंतर से अपने नाम किया था.

Back to top button