पहली बार 1.2 लाख सेवानिवृत्त रक्षा और पूर्व-केंद्रीय सशस्त्र पुलिस बलों की होगी नियुक्ति

सीआईएसएफ़ को गृह मंत्रालय कमर्शियल फोर्स बनाने की तरफ कदम

नई दिल्ली: केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह द्वारा 23 सितंबर को हुई बैठक के बाद गृह मंत्रालय ने सीआईएसएफ को सलाह दी है कि 5 साल के लिए सेवानिवृत्त रक्षा / पूर्व सीएपीएफ कर्मियों की संविदात्मक नियुक्ति की जाए और इसे रिस्ट्रक्चर कर 3:2 के अनुपात में तैनाती की जाए जिनमें से 3 स्थायी हो सकती है और 2 अस्थायी हो सकती है.

जिसके मद्देनजर गृह मंत्रालय अब सीआईएसएफ में पहली बार लगभग 1.2 लाख सेवानिवृत्त रक्षा और पूर्व-केंद्रीय सशस्त्र पुलिस बलों (CAPF) के कर्मियों को नियुक्त करने की योजना बना रहा है.

गृह मंत्रालय के अंतर्गत आने वाले इस अर्धसैनिक बल ने इसका खाका भी तैयार कर लिया है. सीआईएसएफ (CISF) के महानिदेशक ने सभी महानिरीक्षक (IG) को निजी क्षेत्र में बड़े औद्योगिक प्रतिष्ठानों की पहचान करने के लिए कहा है जहां CISF को तैनात किया जा सकता है और अपनी रिपोर्ट को आगे बढ़ा सकता है.

योजना के तहत, सीआईएसएफ की क्षमता को 1,80,000 से 3,00,000 तक बढ़ाने के साथ-साथ 16 अतिरिक्त रिजर्व बटालियन को बढ़ाने का एक संशोधित प्रस्ताव 5 नवंबर को MHA को भेजा गया था.

Tags
Back to top button