माना बाल संप्रेक्षण गृह से 10 बच्चे फरार

- एक्जास फैन की ग्रिल को तोड़कर दिया वारदात को अंजाम

रायपुर।

माना के बाल संप्रेक्षण गृह से एक्जास पंखे की ग्रिल काटकर 10 अपचारी बालक फरार हो गए हैं. इस मामले को लेकर थाना प्रभारी जितेन्द्र ताम्रकार ने कहा कि बालकों के पास ग्रिल काटने के लिए हथियार कहां से आया, इसकी जांच की जाएगी. मामले को पंजीबद्ध कर लिया गया है. वहीं सूचना मिलते ही सभी फरार बच्चों की खोजबीन पुलिस ने शुरू कर दी है। मामला बीती रात का है.

बच्चों का भागने का ये सिलसिला देर रात से ही शुरू हो गया था, लेकिन प्रहरी को इसकी भनक तक नहीं लगी। जानकारी ये भी हुई है कि रात 12 बजे के भागने का ये सिलसिला शुरू हुआ और बारी-बारी से ये सभी सुबह तक फरार होते रहे, लेकिन तब तक ना गार्ड को जानकारी मिली और ना ही किसी ने जाकर बैरक में झांकने की जहमत उठाई। इन नाबालिग बच्चों ने संप्रेक्षण गृह में लगे एक्जास फैन को काटकर भागने का रास्ता बनाया और बड़ी ही आसानी से निकल भागे।

ये सभी भागे हुये आपचारी बालक रायपुर, धमतरी, महासमुंद जिले के है, इन बालाको को चोरी, अबकारी, गांजा, मारपीट के आरोप में बाल संप्रेक्षण गृह में लाया गया था। इस पूरे मामले में माना टीआई ने कहा मामले में जांच प्रारंभ कर दी है। जल्द ही भागे हुये आपचारी बालको को पकड़ लिया जाएगा।

Back to top button