100 करोड़ की अवैध संपत्ति का छापेमारी में ख़ुलासा

एक साथ मारे गए 5 जगहों पर छापें

आंध्र प्रदेश में एक जूनियर रैंक का अधिकारी भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो (ए.सी.बी.) के हत्थे चढ़ा है जिसकी संपत्ति की जांच कर रहे अफसर भी लगातार बढ़ते आंकड़े देखकर दंग रह गए जिन्होंने उसकी संपत्ति का अनुमान करीब 100 करोड़ रुपए लगाया है।

ए.सी.बी. से मिली जानकारी के मुताबिक आरोपी की पहचान एस. लक्ष्मी रैड्डी के रूप में हुई है जो नेल्लोर स्थित ए.पी. ट्रांस्को के असिस्टैंट एग्जीक्यूटिव इंजीनियर कार्यालय में लाइन इंस्पैक्टर के रूप में काम करता है।

एक साथ मारे गए 5 जगहों पर छापें

जांच अधिकारियों ने नेल्लोर और प्रकाशम जिले में एक साथ 5 जगहों पर छापे मारे। एक अधिकारी ने बताया कि गुरुवार सुबह करीब 6.30 बजे सर्च ऑप्रेशन शुरू किए जो कि देर शाम तक जारी रहे। रैड्डी के पिता के घर, उसके दामाद और दोस्तों के घर पर भी छापे पड़े।

अधिकारियों के मुताबिक आरोपी ने 1993 में आंध्र प्रदेश के दक्षिणी विद्युत वितरण कंपनी लिमिटेड (एस.पी.डी. सी.एल.) में हैल्पर के रूप में नौकरी शुरू की। 1996 में उसे असिस्टैंट लाइनमैन के रूप में प्रोमोशन मिला। वर्ष 2014 से वह बोगोलू मंडल में मुंगमुरु गांव में लाइन इंस्पैक्टर के रूप में कार्यरत है।

अधिकारियों के मुताबिक आरोपी के पास दोनों जिलों में कई एकड़ कृषि योग्य भूमि के साथ ही कई मकान हैं। डॉक्यूमैंट्स के मुताबिक उसके नाम पर करीब 57.50 एकड़ खेत, 6 आलीशान मकान और 2 आवासीय प्लॉट हैं। इसके अलावा करीब 9.95 लाख रुपए का बैंक बैलेंस और कई गाडिय़ां भी हैं।

Back to top button