स्कूल टीचर और प्रिंसिपल सहित 106 संदिग्धों को पुलिस ने हिरासत में लिया

कोलंबो। ईस्टर संडे धमाकों के सिलसिले में एक तमिल माध्यम के शिक्षक और एक स्कूल के प्रिंसिपल सहित कुल 106 संदिग्धों को श्रीलंका में गिरफ्तार किया गया है। इस मामले में रविवार को पुलिस ने कहा कि, गिरफ्तार शिक्षक और प्रिंसिपल के पास से उन्हें लगभग 50 से ज्यादा सिम कार्ड सहित अन्य संदिग्ध सामान मिला है। कल्पितिया पुलिस और नौसेना के संयुक्त ऑपरेशन के बाद दोनों संदिग्धों को हिरासत में लिया गया है। शिक्षक और प्रिंसिपल के अलावा पुलिस ने इस विशेष संयुक्त अभियान के दौरान 10 संदिग्धों को गिरफ्तार किया है, जिसने कड़ी पूछताछ की जा रही है।

बता दें कि, 21 अप्रैल को ईस्टर के मौके पर हुए भीषण आतंकी हमलों के बाद सुरक्षा बल लगातार आतंकी ठिकानों पर कार्रवाई कर रहे हैं। चर्चों और होटलों को निशाना बनाकर किए गए इस आत्मघाती हमलों में 253 लोगों की मौत हो गई थी, जबकि 500 से ज्यादा लोग घायल हुए हैं। हमले में भूमिका निभाने वाले आतंकी संगठन नेशनल तौहीद जमात पर प्रतिबंध लगा दिया गया है। इससे पहले भारतीय सुरक्षा एजेंसियों ने बताया था कि आत्मघाती हमलावर जाहरान हाशिम भारत आया था। वह नेशनल तौहीद जमात का नेता था और श्रीलंका में धमाके करने वाले हमलावरों का सरगना था। दोनों देशों की सुरक्षा एजेंसियों के मुताबिक, हाशिम 2017 में भारत आया था और कुछ महीने यहीं रुका था। लेकिन, इस दौरान उसकी गतिविधियों के कारण सुरक्षा एजेंसियों की उस पर नजर पड़ी और वह रडार पर आ गया। इसके बाद वह वापस लौट गया था।

ईस्टर धमाकों के बाद भारत ने अपने नागरिकों के लिए एडवायजरी जारी की है। इसमें कहा गया है कि श्रीलंका की यात्रा न करें, क्योंकि धमाकों के बाद वहां के सुरक्षा हालात खराब हैं। विदेश मंत्रालय ने कहा है कि भारतीय नागरिक बहुत जरूरी होने पर ही श्रीलंका की यात्रा करें। उधर, श्रीलंका सरकार ने देश भर में सुरक्षा बंदोबस्त बढ़ा दिए हैं। पूरे में आपातकाल के साथ ही हर रात कर्फ्यू घोषित है। इस वजह से श्रीलंका के अंदर यात्रा करना थोड़ा मुश्किल हो सकता है।

Back to top button