छत्तीसगढ़

सरगुजा के उदयपुर वन परिक्षेत्र में 11 हाथियों का उत्पात जारी, ग्रामीणों में दहशत

रोशन सोनी

अंबिकापुर।

सरगुजा में हाथियों का आतंक थमने का नाम ही नहीं ले रहा है। हाथियों ने यहाँ अपना डेरा बनाया हुआ है। वहीं देखा जाए तो उदयपुर वन परिक्षेत्र में 11 हाथियों का उत्पात जारी है। सोमवार की रात हाथियों ने ग्राम बनचर व सानीबर्रा में जमकर उत्पात मचाया है।

इस दौरान हाथियों ने दो घर तोड़ने के साथ ही कई ग्रामीणों के कई एकड़ फसल बर्बाद कर दी है। हाथियों के उत्पात से ग्रामीणों में दहशत हैं। वहीं 11 हाथियों का दल उदयपुर विकासखंड के फुनगी के जंगल से होते हुए सोमवार की शाम लगभग 6 बजे ग्राम बनचर में घुस गया।

यहां हाथियों ने शिवप्रसाद के खेत में लगी धान की फसल को बर्बाद करने के बाद घर को भी तोड़ डाला। हाथियों के गांव की तरफ आने की सूचना पर बनचर व फुनगी के ग्रामीण बाहर निकलकर उन्हें खदेड़ने में लग गए है।

इस दौरान हाथियों ने अन्य ग्रामीणों की भी धान की फसल बर्बाद कर दी। काफी मशक्कत के बाद ग्रामीणों ने मशाल जलाकर व शोर मचाते हुए हाथियों को किसी तरह खदेड़ा तो वे जंगल के रास्ते ग्राम सानीबर्रा पहुंच गए।

यहां जंगल किनारे स्थित गवटू का घर तोडऩे के बाद मक्के की फसल भी हाथियों ने बर्बाद कर दी। हाथियों का उत्पात यही नहीं थमा, उन्होंने सानीबर्रा के दिलराज, मनराज, मंगल दास, कुदरिया व रविंद्र के खेत में लगी फसल बर्बाद कर दी। देर रात लगभग 3 बजे हाथियों का दल जंगल की ओर चला गया तब जाकर ग्रामीणों ने थोड़ी राहत की सांस ली। अभी भी हाथियों का दल जंगल में ही डटा हुआ है।

हाथियों के उत्पात से बडख़ाडांड़ निवासी रविंद्र, कुदरिया निवासी सम्पू सिंह, बनचर निवासी शिवप्रसाद, रामप्रसाद, बहेरानाखा निवासी छत्रपाल, बेलझोरखी निवासी दिलरा, मनराज, मंगल, सानीबर्रा निवासी गवटू व संफू की धान की फसल बर्बाद कर दी। साथ ही गवटू व शिवप्रसाद का घर भी तोड़ दिया।

Summary
Review Date
Reviewed Item
सरगुजा के उदयपुर वन परिक्षेत्र में 11 हाथियों का उत्पात जारी, ग्रामीणों में दहशत
Author Rating
51star1star1star1star1star
Tags