शेख हसीना की हत्या का प्रयास करने वाले 11 लोगों को 20 साल जेल

बांग्लादेश की पीएम शेख हसीना की हत्या का प्रयास करने वाले 11 लोगों को 20 साल जेल

ढाका: बांग्लादेश की एक अदालत ने 28 साल पहले प्रधानमंत्री शेख हसीना के पारिवारिक आवास पर उनकी हत्या की कोशिश करने वाले 11 लोगों को 20 वर्ष कैद की सजा सुनाई. ढाका ट्रिब्यून की खबर के मुताबिक वर्ष 1989 में उसी दिन हसीना के घर पर बम विस्फोट करने के आरोपी को ढाका की अदालत ने उम्रकैद की सजा सुनाई.

सभी दोषी बांग्लादेश फ्रीडम पार्टी (बीएफपी) के सदस्य हैं. उनमें से प्रत्येक पर अदालत ने 20,000 टका का जुर्माना लगाया है. बांग्लादेश के प्रथम राष्ट्रपति और राष्ट्रपिता बंगबंधु शेख मुजीबुर रहमान की 1975 में हुई हत्या में भी बीएफपी का ही हाथ था. अदालत के अधिकारियों और वकीलों ने यह जानकारी दी. रहमान हसीना के पिता हैं.

रिपोर्ट के मुताबिक यह फैसला ढाका के फोर्थ एडिशनल मेट्रोपोलिटन सेशन्स जज की अदालत के न्यायाधीश मोहम्मद जहिदुल कबीर ने सुनाया. अधिकारियों ने बताया कि दोषियों को दो अलग-अलग आरोपों में प्रत्येक में 10 वर्ष की सजा हुई है. यानी उन्हें कुल सजा बीस वर्ष की हुई है.

बीएफपी के 7 से 8 सशस्त्र सदस्य 11 अगस्त 1989 को बंगबंधु के आवास पर आए थे. उन्होंने तब विपक्ष की नेता रहीं हसीना के 32 धानमंडी आवास पर हमला किया था, गोलियां बरसाई थी और बम फोड़े थे. इसमें हसीना को कुछ नुकसान नहीं पहुंचा था.

advt
Back to top button