11 संसदीय सचिव और 7 मंत्रियों के वोट को अवैधानिक घोषित कराने की लड़ाई जारी रहेगी – लेखराम साहू

कांग्रेस नेताओं के प्रति आभार व्यक्त किया

रायपुर : कांग्रेस के राज्यसभा प्रत्याशी एवं पूर्व विधायक लेखराम साहू ने कांग्रेस भवन में आयोजित पत्रकारवार्ता को संबोधित करते हुये पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी, अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष राहुल गांधी, छत्तीसगढ़ प्रभारी पी.एल. पुनिया, प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष भूपेश बघेल, कांग्रेस विधायक दल के नेता टी.एस. सिंहदेव सहित कांग्रेस के समस्त 36 विधायकों को धन्यवाद व आभार मानते हुये कहा कि मुझ जैसे पिछड़ा वर्ग साहू समाज के छोटे परिवार और किसान परिवार के पुत्र को राज्यसभा सदस्य जैसे अहम पद के लिये कांग्रेस ने अपना प्रत्याशी बनाया।

मेरा नाम तय किया। लेखराम साहू ने आगे कहा कि हमने राज्यसभा मतदान पूर्व भारत निर्वाचन आयोग से लाभ के पदों पर छत्तीसगढ़ में 18 विधायकों को मतों से दूर रखने की न्याय संगत अपील की थी, परंतु निर्वाचन आयोग ने छत्तीसगढ़ के राज्यपाल से गुहार लगाने की नसीहत दी। तत्काल दूसरे दिन ही मैने राज्यपाल महोदय से चुनाव आयोग को दिये गये ज्ञापन की प्रति के साथ मुलाकात करने का समय मांगा। छत्तीसगढ़ के राज्यपाल के सचिव ने राजभवन में ज्ञापन लेते हुये आश्वस्त किया था कि आपकी मांगों पर सुनवाई अवश्य ही की जायेगी और भारत निर्वाचन आयोग को रिपोर्ट भेजी जायेगी लेकिन आज तक उस विषय पर कोई कार्यवाही नहीं की गयी।

लेखराम साहू ने कहा कि बड़े दुख का विषय है सरकार में मुख्यमंत्री से निराशा हाथ लगने पर राज्यपाल से गुहार की जाती है, लेकिन देखने को मिला कि राज्यपाल प्रशासन और सरकार के दबाव में काम कर रहे है। यह संदेह इसलिये उत्पन्न हुआ है क्योंकि आज तक उक्त ज्ञापन पर कोई कार्यवाही नहीं हुई जो अनेक प्रश्नों को जन्म देता है। लेखराम साहू ने कांग्रेस के सभी कार्यकर्ताओं और मीडिया से जुड़े सभी लोगो के प्रति आभार व्यक्त किया है।

advt
Back to top button