ग्वालियर के 12 प्राइवेट हॉस्पिटल कोरोना मरीजों को देगा निशुल्क केयर

हॉस्पिटलों के इस फैसले के बाद कोरोना मरीजों को 500 और बेड मिल गए

ग्वालियर:मध्य प्रदेश के ग्वालियर में कोरोना संक्रमण तेजी से बढ़ रहा है. संक्रमित मरीजों का आंकड़ा हर दिन 900 के करीब पहुंच रहा है. एक दिन में बड़ी तादाद में मामले सामने आने से हड़कंप मचा हुआ है.

ऐसे में प्राइवेट अस्पताल सामने आए हैं और अपने रिसोर्सेज मरीजों की देखरेख के लिए फ्री दे रहे हैं. अब जो लोग महंगा होने की वजह से प्राइवेट अस्पतालों में नहीं जा पाते थे उनके मरीजों को भी अब वही केयर निशुल्क मिलेगी.

ग्वालियर के 12 प्राइवेट हॉस्पिटलों ने कोरोना मरीजों को निशुल्क केयर देने का फैसला लिया है. इन अस्पतालों ने अपने रिसोर्सेज जैसे पैरा मेडिकल स्टाफ और डॉक्टर्स प्रशासन को सौंप दिए हैं, जिससे मजबूर जरूरतमंदों को सही से इलाज मिल सके. हॉस्पिटलों के इस फैसले के बाद कोरोना मरीजों को 500 और बेड मिल गए हैं.

अब मिलेगी प्राइवेट अस्पतालों वाली केयर

कोरोना संक्रमण की भयावह होती स्थिति के बीच 12 प्राइवेट हॉस्पिटलों ने यह फैसला पब्लिक वेलफेयर में लिया है. उन्होंने अपने डॉक्टर्स, पैरा मेडिकल स्टाफ को प्रशासन को सौंप दिया है, जिससे जरूरत के हिसाब से मरीजों को निशनल्क प्राइवेट अस्पतालों वाली केयर मिल सके. अब तक 6 हॉस्पिटल मरीजों को निशुल्क केयर दे रहे हैं जल्द ही दूसरे अस्पतलों में भी ये सुविधा शुरू होने जा रही है. ये जानकारी ग्वालियर के कलेक्टर कौशलेंद्र विक्रम सिंह ने दी है.

उन्होंने कहा कि सरकार की तरफ से तय प्रोटोकॉल के हिसाब से इन अस्पतालों में मरीजों को इलाज मिल रहा है. भर्जी होने वाले मरीजों को अच्छी सुविधा उपलब्ध कराए जाने को लेकर सीनियर ऑफिसर्स को नोडल अधिकारी बनाया गया है. साथ ही मजबूत रेफरल सिस्टम भी बनाया गया है. जिस से जरूरत के हिसाब से गंभीर हालत में मरीज को सुपर स्पेशिलिटी हॉस्पिटल में भर्ती कराया जा सके.

‘कोरोना मरीजों के लिए बेड की कमी नहीं’

कलेक्टर ने ये भी कहा कि ग्वालियर में कोरोना मरीजों के लिए प्रर्याप्त संख्या में सरकारी और प्राइवेट अस्पतालों में ऑक्सीजन बेड मौजूद हैं. उन्होंने बताया कि फिलहाल सरकार द्वारा तलाए जा रहे 14 हेल्थ डिपार्टमेंट समेत 57 प्राइवेट हॉस्पिटलों में 2,154 बेड खाली पड़े है.

आने वाले दिनों में संक्रमण की स्थिति के लिए भी प्रशासन पूरी तरह से तैयार है. संक्रमित मरीजों के इलाज के लिए नर्सिंग कॉलेजों और दूसरे डिपार्टमेंट्स में पूरी व्यवस्था की गई है. यहां पर्याप्त संख्या में बेड भी मौजूद हैं.

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button