दृष्टिहीन 13 वर्षीय नाबालिग के साथ दुष्कर्म, हालत गंभीर

शहडोल।

प्रदेश में दरिंदगी के मामले थमने का नाम ही नहीं ले रहे हैं। मासूम के साथ हैवानियत का एक और मामला सामने आया है शहडोल में। यहां 13 वर्षीय दृष्टिहीन नाबालिग के साथ दुष्कर्म करके दरिंदा उसे अधमरा कर जंगल में छोड़ कर फरार हो गया। बच्ची को उसके पिता ने गंभीर हालत में शहडोल अस्पताल में भर्ती कराया। जहां से चिकित्सकों ने उसे संजय गांधी अस्पताल रीवा रेफर कर दिया है।

जानकारी के अऩुसार जबलपुर में भंवर तालाब के पास संचालित दृष्टीहीन विद्यालय में पढ़ने वाली 13 वर्षीय बच्ची को उसके पिता अपने साथ लेकर शहडोल के बुढ़ार थाना इलाके के गांव देवरी जा रहे थे।शहडोल स्टेशन में उतरने के बाद घर की ओर जा रहे पिता पुत्री को एक अंजान बाइक सवार ने लिफ्ट देने की पेशकश की, जिसे पिता ने पहले तो ठुकरा दिया।

लेकिन रात का वक्त और जंगली रास्ता होने के कारण दोनों बाइक सवार के साथ चले गए। आधे रास्ते में बाइक सवार ने पिता को बीड़ी लेने के लिए भेज कर, वहां से बच्ची को लेकर भाग निकला। करीब आधे घंटे की तलाश के बाद पिता को अपनी बेटी दर्द से कराहते हुए जंगल में पड़ी मिली।

गंभीर रूप से घायल बच्ची को पिता ने शहडोल जिला अस्पताल में भर्ती कराया, जहां से स्थिति नाजुक होती देखकर उसे रीवा के संजय गांधी अस्पताल के लिए रेफर कर दिया गया। चिकित्सकों के अनुसार बच्ची की स्थिति बिगड़ती जा रही है। वहीं पुलिस ने मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।

Back to top button