बाराती बनकर अपने पिता की शादी में शामिल हुआ 13 साल का बेटा

दोनों ने 20 साल पहले कोर्ट मैरिज की थी

उन्नाव:उत्तर प्रदेश के उन्नाव में एक 13 साल का बेटा बाराती बनकर अपने पिता की शादी में शामिल हुआ. दूल्हा 58 वर्ष और दुल्हन 50 वर्ष की थी. दूल्हे की बहन का दावा है की दोनों ने 20 साल पहले कोर्ट मैरिज की थी, लेकिन किन्हीं कारणों से शादी रीतिरिवाजों से नहीं हो पाई थी, लेकिन वे एक दूसरे के साथ रह रहे थे. अब परिवार की आपसी सहमति के बाद दोनों की पारंपरिक तरीके से शादी संपन्न कराई गई.

उन्नाव के मियागंज ब्लॉक में स्थित रसूलपुर रूरी गांव के रहने वाले नारायण रैदास ने अपनी प्रेमिका रामरती (जो मियागंज ब्लॉक के मिश्रापुर गांव के रहने वाली हैं) से शादी की है. बताया जा रहा है कि दोनों 20 वर्षों से लिव इन रिलेशनशिप में रह रहे थे. दोनों का एक 13 साल का बेटा अजय भी है. बीते सोमवार को गाजे बाजे के साथ दोनों की धूमधाम से शादी हुई.

बताया जा रहा है कि ग्राम प्रधान रमेश ने ग्रामीणों के साथ मिलकर शादी की पूरी तैयारियां करा कर बारात ले जाने का इंतज़ाम करवाया और गांव के बाहर स्थित ब्रम्ह देव बाबा के मंदिर में लगभग आधा दर्जन गाड़ियों के साथ वर-वधू को ले जाकर शादी की रस्‍में पूरी करवाई गईं. इसके बाद दोनों अपने घर जाकर एकदूसरे के साथ सात फेरे लिए.

ग्रामीणों ने की तैयारी

मिली जानकारी के मुताबिक इस बारात में पूरी तैयारियां ग्राम प्रधान ने ग्रामीणों के साथ मिलकर की. पूरी धूमधाम के साथ बारात की रस्‍में पूरीं करवाई गईं. बारात में आये डीजे पर ग्रामीण खूब थिरके. ग्राम प्रधान द्वारा करवाई गई यह शादी क्षेत्र में चर्चा का विषय बनी हुई है. दूल्हा नारायण रैदास ने बताया कि ग्रामीणों की मदद से उनकी रिती-रिवाज से शादी हो पाई.

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button