माकन-थरूर समेत 15 कांग्रेस नेता अब आए Y-श्रेणी में,सुरक्षा में कटौती

गृह मंत्रालय की ओर से कांग्रेस नेता अजय माकन, गुजरात कांग्रेस के नेता अर्जुन मोढवाडिया, शशि थरूर और श्रीप्रकाश जायसवाल की सुरक्षा में कमी की गई है. वहीं पूर्व मंत्री एके एंटेनी की सुरक्षा श्रेणी भी अब Y-श्रेणी करदी गई है.केंद्रीय गृह मंत्रालय ने कुल 42 नेताओं की सुरक्षा को कम किया है, इसमें 15 कांग्रेस के नेता भी शामिल हैं.

यह फैसला इंटेलिजेंस एजेंसियों के आकलन होने के बाद लिया गया है. इसके अलावा राज्य सभा सांसद राजीव शुक्ला की सुरक्षा श्रेणी भी अब Y कर दी गई है. हालांकि कांग्रेस नेता गिरिजा व्यास, प्रिया रंजन दास मुंशी और आरपीएन सिंह समेत 8 लोगों एक्स श्रेणी कवर वापिस लिया गया है.

कौन आता है वीआईपी सुरक्षा के दायरे में
अगर किसी प्रतिष्ठित व्यक्ति या नेता को जान का खतरा हो तो उसे सुरक्षा मुहैया कराई जाती हैं. ये सुरक्षा मंत्रियों को मिलने वाली सुरक्षा से अलग हैं. संबंधित व्यक्ति इस बारे में सरकार से आवेदन करता है और सरकार खुफिया एजेंसियों के जरिए पता लगाती है कि खतरे की बात में कितनी सच्चाई हैं. यदि खतरे की पुष्टि होती है तो सुरक्षा मुहैया कराई जाती है. गृह सचिव, महानिदेशक और मुख्य सचिव की समिति यह तय करती है कि संबंधित व्यक्ति को किस श्रेणी की सुरक्षा उपलब्ध कराई जाए.

कैसे होती है ,वीआईपी सुरक्षा
पुलिस के साथ-साथ कई एजेंसियां हैं जो वीआईपी, वीवीआईपी को सुरक्षा कवर मुहैया कराती हैं. जैसे स्पेशल प्रोटेक्शन ग्रुप एसपीजी, राष्ट्रीय सुरक्षा गार्ड एनएसजी, भारत तिब्बत सीमा पुलिस आईटीबीपी और केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल सीआरपीएफ, CISf. वैसे तो विशिष्ट व्यक्ति की सुरक्षा का जिम्मा एनएसजी के कंधों पर ही होता है, लेकिन जिस तरह से जेड प्लस सुरक्षा लेने वालों की संख्या में इजाफा हुआ है उसे देखते हुए सीआईएसएफ को भी यह काम सौंपा जा रहा है. मौजूदा वक्त में एनएसजी 14 लोगों को जेड प्लस सुरक्षा दे रही हैं.

Back to top button