बाढ़ के खतरों के बीच 1500 लोगों को सुरक्षित निकाला गया

हथिनी कुंड बैराज से छोड़े गए छह लाख क्यूसेक पानी के कारण दिल्ली में यमुना का जलस्तर बढ़ा

नई दिल्ली। हथिनी कुंड बैराज से छोड़े गए छह लाख क्यूसेक पानी के कारण दिल्ली में यमुना का जलस्तर तेजी से बढ़ रहा है। जलस्तर बढ़ने से खतरे के निशान के पार चल गया है,जिससे यमुना के आयपास के निचले इलाकों में जलभराव हो गया है।

इसकी वजह से वहां रह रहे लोगों 1500 लोगों को सुरक्षित स्थान पर पहंचाया जा चुका है। इन लोगों के लिए पूर्वी दिल्ली में 10 स्थानों पर 550 टेंट लगाए गए हैं। बाढ़ के खतरे को देखते हुए यमुना के जल स्तर पर 24 घंटे नजर रखी जा रही है।

प्रत्येक घंटे में यमुना के जल स्तर की रिपोर्ट सभी संबंधित विभागों और अधिकारियों को जारी की जा रही है। इसके मद्देनजर दिल्ली सरकार के सिंचाई व बाढ़ नियंत्रण विभाग ने अलर्ट जारी कर यमुना से सटे निचले इलाकों में स्थित झुग्गियों को खाली कराने का निर्देश जिलाधिकारियों का दिया है।

इसी के साथ दिल्ली सरकार की ओर से यमुना नदी के पास ना जाने की एहतियात दी गई है। वहीं बाढ़ से बचने के लिए सरकार ने एनडीआरएफ टीम से मदद मांगी है।

Back to top button