18 लाख की धोखाधड़ी, एग्रीमेंट के बाद भी नहीं कराई रजिस्ट्री

नईम खान :

बिलासपुर : सरकंडा क्षेत्र के अशोकनगर रोड बिरकोना में जमीन दिलाने का झांसा देकर प्रापर्टी डीलर द्वारा धोखाधड़ी करने का मामला सामने आया है। रिपोर्ट पर पुलिस ने आरोपी के खिलाफ धोखाधड़ी का अपराध दर्ज कर लिया है।

सरकंडा पुलिस के अनुसार जोरापारा निवासी रविंद्र शर्मा पिता जेएल शर्मा (35) ने एसपी ऑफिस में शिकायत दर्ज कराई थी। इसमें बताया गया था कि बिरकोना में तिहारूराम पिता महेत्तर की जमीन है,

जिसमें से 18 हजार वर्गफुट को खरीदने के लिए श्रेष्ठ पाठक ने सौदा तय किया था। इसी जमीन में से सात हजार 200 वर्गफुट जमीन को खरीदने के लिए श्रेष्ठ पाठक ने रविंद्र शर्मा से अनुबंध कर कर 18 हजार रुपये एडवांस ले लिया।

नवंबर 2017 में रविंद्र को भरोसा दिलाने के लिए श्रेष्ठ पाठक ने मुख्तायार आम का पंजीयन कराया। एग्रीमेंट के तहत दिसबंर 2017 के अंत में जमीन की रजिस्ट्री कराने का आश्वासन दिया गया।

रविंद्र बार-बार उनसे संपर्क करता रहा और श्रेष्ठ पाठक उन्हें लगातार घुमाते रहा। बाद में उन्होंने जमीन की बढ़ी हुई कीमत की मांग करने लगा और 32 लाख रुपये की जगह 42 लाख रुपये की मांग करने लगे।

बयाना रकम वापस करने की धमकी देने पर रविंद्र 42 लाख रुपये में जमीन लेने के लिए तैयार हो गया। लेकिन उन्होंने मेन रोड के बजाए पीछे की जमीन देने की बात कही।

साथ ही रविंद्र ने कहा कि शेष जो भी रकम बकाया है उसे वह किसान को देगा। मुख्तयार आम के माध्यम से जमीन की रजिस्ट्री नहीं होगी। बाद में उन्होंने जमीन को किसी अन्य को बेच दिया।

मामला सामने आने पर रविंद्र ने कार्रवाई के लिए पुलिस की मदद ली। उसकी शिकायत पर जांच के बाद एसपी आरिफ शेख ने सरकंडा थाने को धोखाधड़ी का अपराध दर्ज करने के निर्देश दिए।

उनके निर्देश पर पुलिस ने आरोपी श्रेष्ठ पाठक के खिलाफ धारा 420 के तहत अपराध दर्ज कर लिया है।

किसी अन्य को बेच दी जमीन

रविंद्र ने अपनी शिकायत में बताया है कि उससे एग्रीमेंट करने के बावजूद आरोपी श्रेष्ठ पाठक ने उसी जमीन को फरवरी 2018 में उसे बताए बिना ही किसी अन्य को बेच दिया। इसके बाद जब वह 18 लाख रुपये वापस मांगा तो उन्हें घुमाते रहा।

Back to top button