अन्यखेल

एशियन गेम्स में रंगारंग कलोजिंग सैरेमनी शुरू, भारत के लिए रहा ऐतिहासिक

ए आर रहमान का‘जय हो’का गाना गूंजा तो पूरा स्टेडियम भारतमय हो उठा।

जालन्धर : जकार्ता में हो रहे 18वीं एशियन गेम्स भारत के लिए यह गेम्स ऐतिहासिक साबित हुए। एशियन गेम्स में रंगारंग कलोजिंग सैरेमनी शुरू हो गई है। इन गेम्स में कुल 69 मैडल हासिल करने के साथ भारत ने अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन भी किया।

भारत ने 15 गोल्ड 24 सिल्वर और 30 ब्रॉन्ज मैडल हासिल किए। खास बात यह है कि भारत के गोल्ड और सिल्वर मैडलों की संख्या बढ़ी है। इससे पहले भारत ने 1951 में हुईं एशियन गेम्स में 15 गोल्ड जीते थे।

बहरहाल, गेम्स की क्लोजिंग सैरेमनी में भारतीय दल की अगवाई वुमैंस हॉकी टीम की कप्तान रानी रामपाल कर रही हैं। भारी बारिश के बावजूद भी सैरेमनी जारी है।

भारतीय महिला हॉकी टीम की कप्तान रानी रामपाल ने 18वें एशियाई खेलों के रंगारंग समापन समारोह में तिरंगा लेकर भारतीय दल का नेतृत्व किया और बॉलीवुड के गानों से इस समारोह में जकार्ता थिरक उठा।

भारतीय महिला हॉकी टीम ने इन खेलों में 20 साल के अंतराल के बाद रजत पदक हासिल किया और भारतीय ओलंपिक संघ(आईओए) ने इस टीम की कप्तान रानी को समापन समारोह में तिरंगा लेकर भारतीय दल का नेतृत्व करने का गौरव प्रदान किया।

समापन समारोह में आसमान से भी कुछ बूंदें बरसीं। शेख अहमद ने इस भव्य आयोजन के लिए सभी का शुक्रिया अदा करते हुए कहा, आज बादल भी आंसू बहा रहे हैं क्योंकि उन्हें भी इस खूबसूरत सफर के अंत का दुख है।

शेख अहमद ने खासतौर पर उन 13 हजार वॉलंटियर्स को विशेष रूप से शुक्रिया कहा जिन्होंने इन खेलों को सफल बनाने के लिए दिन-रात एक कर दिया। उन्होंने इन खेलों की सर्वश्रेष्ठ एथलीट चुनी गयीं जापान की युवा तैराक रिकाको इकी को भी बधाई दी जिन्होंने छह स्वर्ण और दो रजत सहित कुल आठ पदक जीते।

समारोह में मौजूद खिलाडिय़ों ने प्रतिस्पर्धाओं के तनाव से मुक्त होकर इस माहौल का पूरा मजा लिया। खिलाड़ी जश्न मना रहे थे, अपने फोन के फ्लैश से इन यादगार लम्हों को कैद कर लेना चाहते थे, संगीत पर जमकर मस्ती हो रही थी और खिलाडिय़ों के जश्न में वॉलंटियर्स भी शामिल हो गए थे।

इंडोनेशिया की सेनाओं ने अपने बैंड के साथ परफार्म किया। स्टेडियम में हर तरफ फ्लैश लाइट को देखकर ऐसा लग रहा था मानो आसमान के तारे जमीन पर उतर आए हों।

शेख अहमद ने एशिया के सभी खिलाड़यिों से चार साल बाद चीन के हांगझाओ में मिलने का आह्वान करते हुए एशियाई ओलंपिक परिषद का ध्वज हांगझाओ के मेयर जू ली यी को सौंप दिया।

समापन समारोह का सबसे भावुक पल तो उस समय आया जब 15 दिनों से जल रही एशियाई खेलों की ज्योति को बुझा दिया गया। इसे अब अगले एशियाई खेलों के समय प्रज्ज्वलित किया जायेगा।

समापन समारोह में खिलाडिय़ों के मार्च पास्ट में भारतीय दल की अगुवाई रजत विजेता हॉकी टीम की कप्तान रानी रामपाल ने की। इन खेलों के उद्घाटन समारोह में भारतीय दल की अगुवाई भाला फेंक एथलीट नीरज चोपड़ा ने की थी जिन्होंने इन खेलों में ऐतिहासिक प्रदर्शन करते हुए स्वर्ण पदक जीता।

उद्घाटन समारोह में जहां इंडोनेशिया की सांस्कृतिक विरासत की झलक पेश की गयी थी वहीं समापन समारोह में आधुनिक संगीत ने चार चांद लगा दिए। समापन समारोह में बॉलीवुड भी पीछे नहीं रहा और बॉलीवुड के गाने पेश किए गए जिसपर भारतीय खिलाड़ी झूम उठे। भारत ने इन खेलों में 15 स्वर्ण सहित कुल 69 पदक जीतकर एशियाई खेलों के इतिहास का सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन किया।

बॉलीवुड के बादशाह शाहरुख खान के ‘कोई मिल गया’और ‘तुम पास आए’ जैसे गानों को सिद्धार्थ ने गाकर समा ही बांध दिया और जब ए आर रहमान का‘जय हो’का गाना गूंजा तो पूरा स्टेडियम भारतमय हो उठा।

गायक जीजी, बैंस और सैम सिंमाजतुक ने अपने परफार्मेंस से संदेश दिया कि एकसाथ रहकर हम बहुत आगे जा सकते हैं। समारोह के बाद आसमान भव्य आतिशबाजी से जगमगा उठा और सभी एथलीटों ने बेहद भावुक माहौल में एक दूसरे को अलविदा कहा। एशियाई खेलों का सफर अब 19वें खेलों के लिए चार साल बाद 2022 में चीन पहुंचेगा।

Summary
Review Date
Reviewed Item
क्लोजिंग सेरेमनी के साथ खत्म हुआ 18वां एशियन गेम्स, भारत के लिए रहा ऐतिहासिक
Author Rating
51star1star1star1star1star
congress cg advertisement congress cg advertisement
Tags