राष्ट्रीय

बाल सुधार गृह में रहने वाले 2 नाबालिग लड़कों ने फांसी लगाकर की आत्महत्या

घटना सामने आने के बाद शासकीय बाल निरीक्षण गृह में हडकंप

बुलढाणा:बाल निरीक्षण गृह में रह रहे अन्य लड़कों को सुबह दोनों लाशें लटकती दिखाई दी जिससे घबराए बच्चों ने बाल निरीक्षणकर्मियों को इसकी जानकारी दी. जानकारी मिलने के बाद तुरंत पुलिस की टीम घटनास्थल पर पहुंची और शव का पंचनामा किया. घटना महाराष्ट्र के बुलढाणा के शासकीय बाल निरीक्षण गृह (बाल सुधार गृह/रिमांड होम) का है.

शनिवार की सुबह दो नाबालिग लड़कों जिनकी उम्र 15 और 17 साल थी, की लाशें लोहे के एंगल पर चादर और टॉवेल से बने फंदे में से लटकती हुई मिली. इन दोनों नाबालिगों ने बुलढाणा के शेगाव शहर में घर में चोरी की थी, जिसके चलते उन्हें बाल निरीक्षण गृह में 1 हफ्ते पहले ही लाया गया था.

बुलढाणा के एसपी अरविंद चावरिया ने पूरे मामले में कहा कि यह आत्महत्या है, क्योंकि वहां लगे सीसीटीवी कैमरे में पूरी घटना कैद हो गई है. इन लड़कों ने यह आत्महत्या क्यों की अब इसकी जांच की जाएगी. बुलढाणा के एसपी ने कहा कि शेगाव शहर के एक मामले इन मृतकों का लिंक था.

हफ्तेभर पहले ही इन्हें बुलढाणा लाया गया था. आज सुबह हमें जानकारी मिली कि इन्होंने आत्महत्या की है. जिला सत्र न्यायाधीश ने भी घटनास्थल का मुआयना किया है. पूरी घटना वहां लगे cctv में कैद हुई है जिससे प्राथमिक तौर पर यह आत्महत्या है, आगे की जांच की जाएगी. TAGS

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button