सेलर धान खरीदी केन्द्र में 598 किसानों से समर्थन मूल्य पर खरीदा गया 21475 क्विंटल धान

धान खरीदी व्यवस्था से संतुष्ट है किसान

ब्यूरो चीफ : विपुल मिश्रा

बिलासपुर 05 जनवरी 2021। जिले के किसानों को समर्थन मूल्य पर धान बिक्री का आॅनलाईन प्रकिया से तत्काल भुगतान प्राप्त हो रहा है। इससे किसानों में संतोष है और वे उत्साह के साथ खरीदी केन्द्रों में अपना धान बेचने पहुंच रहे है। विकासखण्ड बिल्हा के सेलर धान खरीदी केन्द्र में 598 किसानों से 21475 क्विंटल धान की खरीदी की गई। इसके लिए किसानों को 2 करोड़ 82 लाख 46 हजार रूपये का भुगतान किया गया।

धान खरीदी केन्द्र

सेलर धान खरीदी केन्द्र के प्रभारी दिलीप कैवर्त ने बताया कि यहां 795 पंजीकृत किसान है एवं धान का पंजीकृत रकबा 778 हेक्टेयर है। इस केन्द्र में गांव पिपरा, सेलर एवं मोहरा के किसान धान बेचने आते है। विगत वर्ष यहां पंजीकृत किसानों की संख्या 745 थी। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल द्वारा किसानों को दी जा रही सुविधाएं के चलते किसानों की पंजीयन संख्या में ईजाफा हुआ है। उन्होंने बताया कि केन्द्र में बारदाने भी पर्याप्त मात्रा में उपलब्ध हैै।सेलर धान खरीदी केन्द्र में 598 किसानों से समर्थन मूल्य पर खरीदा गया 21475 क्विंटल धान

यहां कुल 74706 मानक बारदाना प्राप्त हुआ था, जिनमें से 53688 बारदानों का उपयोग किया गया। धान खरीदी केन्द्र में धान बेचने आये रथराम कश्यप यहां की व्यवस्था से संतुष्ट नजर आये। उन्होंने बताया कि धान खरीदी में किसी प्रकार की परेशानी नहीं आयी। टोकन व्यवस्था शानदार है। वे 58 क्विंटल धान बेच चुके है। उन्होंने बताया कि उनकी कृषि जमीन 4.36 एकड़ है।

इसी प्रकार रामचंद्र कश्यप भी धान खरीदी की व्यवस्था से संतुष्ट है। उन्होंने बताया कि उनकी कृषि भूमि 1.3 एकड़ है और उन्होंने 26 क्विंटल धान की ब्रिकी की है। उन्होंने बताया कि धान का टोकन कटाने से लेकर तौलाई तक उन्हें किसी भी प्रकार की परेशानी नहीं। राशि भी खाते में समय पर अंतरित हो जा रही है। विद्या साहू ने बताया कि मुख्यमंत्री भूपेश बघेल द्वारा 2500 रूपए में समर्थन मूल्य पर धान खरीदी से उन्हें बहुत सहारा मिला है। अब साहूकारों से मुक्ति मिल गई है। उनकी कृषि भूमि 4 एकड़ हैं और उन्होंने 48 क्विंटल धान इस केन्द्र में बेचा है।

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button