राष्ट्रीय

भारत में कोरोना वायरस टीकाकरण के बाद अब तक 22 लोगों की मौत

कड़ों के अनुसार पिछले 24 घंटे में आगरा निवासी एक 77 वर्षीय बुजुर्ग की मौत हुई है।

नई दिल्ली। भारत में कोरोना वायरस को खत्म करने के लिए दुनिया का सबसे बड़ा टीकाकरण अभियान चलाया जा रहा है। वहीं, शुक्रवार को स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा जारी किए गए आंकड़ों की मानें को देश में कोरोना वायरस टीकाकरण के बाद से अब तक 22 लोगों की मौत हो चुकी है। हालांकि, स्वास्थ्य मंत्रालय ने इन मौतों की वजह के पीछे टीकाकरण को जिम्मेदार नहीं ठहराया गया है। आंकड़ों के अनुसार पिछले 24 घंटे में आगरा निवासी एक 77 वर्षीय बुजुर्ग की मौत हुई है। इस व्यक्ति को 7 दिन पहले टीका लगाया गया था।

जबकि उसकी मौत का कारण मधुमेह के साथ कार्डियोजिक/ सेप्टिकमिक सदमा बताया गया है। विशेषज्ञों की तीन समितियां – एक जिला, राज्य और राष्ट्रीय स्तर की समिति – मृत्यु दर में टीकाकरण की भूमिका का पता लगाती हैं। मंत्रालय ने कहा कि राष्ट्रीय समिति द्वारा आने वाले दिनों में ऐसी मौतों का विश्लेषण किये जाने की उम्मीद है।

खबरों की मानें तो शुक्रवार तक 10.4 मिलियन सत्रों में लगभग 5.2 मिलियनय लोगों का टीकाकरण किया गया है। यानि की लक्ष्य का लगभग 50% हासिल कर लिया गया है। स्वास्थ्य मंत्रालय के प्रवक्ता ने दावा किया कि आज (शुक्रवार) भारत में 3.3 लाख टीकाकरण किए गए हैं और संयुक्त राज्य, यूनाइटेड किंगडम और इजरायल की तुलना में भारत में सबसे तेजी से 5 लाख टीकाकरण हुए हैं।

वहीं स्वास्थ्य राज्य मंत्री अश्विनी चौबे ने शुक्रवार को लोकसभा में जानकारी दी कि कोरोना वैक्सीन टीकाकरण को लेकर लोगों में संशय है जिसके कारण कोरोना वायरस सत्र में कम लोगों ने भाग लिया है। उन्होंने कहा कि कोरोना वायरस टीकाकरण के बाद अब तक 7,580 प्रतिकूल घटनाओं की सूचना मिली है। उन्होंने कहा कि अन्य देशों में कोरोना वायरस महामारी का दूसरा और तीसरा चरण देखने को मिला है, जो और भी ज्यादा खतरनाक है। इसलिए हम यह नहीं कह सकते कि कोरोना वायरस टीकाकरण के बाद इन मामलों निश्चित तौर पर कमी आ जाएगी।

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button