छत्तीसगढ़

रिकार्ड में दर्ज हुआ 23 हजार स्काउट गाइड का करमा नृत्य

सोमनी की धरती में हुआ करमा नृत्य आज विश्व इतिहास में दर्ज हुआ

रिकार्ड में दर्ज हुआ 23 हजार स्काउट गाइड का करमा नृत्य

साथ में झूमे सांसद श्री अभिषेक सिंह एवं पूर्व सांसद डॉ. सरोज पांडे

राजनांदगांव : सोमनी की धरती में हुआ करमा नृत्य आज विश्व इतिहास में दर्ज हुआ। शानदार लोकधुनों के बीच 23000 बच्चों ने एक लय में नृत्य कर समां बांध दिया। इस शानदार नृत्य में सांसद श्री अभिषेक सिंह एवं दुर्ग जिले की पूर्व सांसद डॉ. सरोज पांडे भी सहभागी हुए। पहले 5 मिनट का डेमो हुआ। डेमो के पश्चात अपने उद्भोधन में डॉ. सरोज पांडे ने कहा कि हमारे बीच सबसे युवा सांसद श्री अभिषेक सिंह भी हैं।

बच्चों की खुशी में वे भी शरीक हों और करमा नृत्य करें। इसके बाद जब नृत्य शुरू हुआ तो मौके पर उपस्थित हर कोई झूमने लगा। नृत्य समाप्त होने के बाद जजमेंट की बारी थी।

सबके दिल की धड़कने बढ़ी हुई थीं। गोल्डन बुक आफ वल्र्ड रिकार्ड के एशिया हेड डॉ. मनीष बिश्नोई ने कहा कि गोल्डन बुक का मानदंड काफी कठिन होता है हम किसी भी परफार्मेंस में काफी चीजें आब्जर्व करते हैं।

मुझे इस बात की खुशी है कि सभी पैरामीटर में इन बच्चों ने कमाल कर दिया है। इतने सारे बच्चों ने एक साथ ऐसा प्रदर्शन किया जिसके बारे में सोचना कठिन है। ऐसा लगता ही नहीं कि केवल कुछ दिनों की तैयारी में यह परफार्मेंस कर लिया गया। मैं इस परफेक्ट परफार्मेंस के लिए आप सबको बधाई देता हूँ और इस तरह उन्होंने मौके पर ही सर्टिफिकेट देने की घोषणा की।

इस अवसर पर बच्चों को संबोधित करते हुए सांसद श्री अभिषेक सिंह ने कहा कि करमा नृत्य छत्तीसगढ़ की संस्कृति की जान है। इस सुंदर नृत्य से हमारी सांस्कृतिक समृद्धि की झलक मिलती है। बच्चे पारंपरिक परिधान में बहुत सुंदर लग रहे हैं। आप लोगों के लिए बड़े गौरव का विषय है कि आप एक ऐतिहासिक रिकार्ड का हिस्सा होने जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि डेमो प्रदर्शन के दौरान मैंने देखा कि बच्चे बहुत सुंदर लय में प्रदर्शन कर रहे हैं। आप लोगों की यह मेहनत निश्चय ही रिकार्ड का हिस्सा होने का दर्जा रखती है।

इस मौके पर उपस्थित जनों को संबोधित करते हुए पूर्व सांसद डॉ. सरोज पांडे ने कहा कि आज हजारों बच्चों को करमा नृत्य के लिए एकत्रित होते हुए देखा। बच्चों के चेहरे में खुशी नजर आ रही है। वे रिकार्ड का हिस्सा बनने जा रहे हैं। कोई भी रिकार्ड बनाना बहुत कठिन होता है और जब बात वल्र्ड रिकार्ड की हो तो यह बहुत कठिन कार्य होता है लेकिन मुझे लगता है कि स्काउट के बच्चों के लिए कुछ भी मुश्किल नहीं। आपका अनुशासन, आपकी ट्रेनिंग इतने उम्दा स्तर की होती है कि आप हर चुनौती का सामना करने के योग्य होते हैं।

इस मौके पर राज्य स्काउट आयुक्त श्री गजेंद्र यादव ने कहा कि आज हजारों बच्चों ने एक साथ करमा नृत्य किया। बच्चे रिकार्ड का हिस्सा बने हैं। स्काउट से बच्चों को अनुशासन की सीख मिलती है। साथ ही अपनी सांस्कृतिक जड़ों को भी जानने-समझने की मदद मिलती है। इस करमा नृत्य के माध्यम से हम छत्तीसगढ़ी संस्कृति की सुंदरता को अभिव्यकत कर पाए हैं। इस मौके पर दुर्ग महापौर श्रीमती चंद्रिका चंद्राकर, राजगामी संपदा न्यास के पूर्व अध्यक्ष श्री संतोष अग्रवाल, जिला स्काउट आयुक्त श्री अशोक चौधरी, मंडी के पूर्व उपाध्यक्ष श्री कोमल राजपूत एवं अन्य जनप्रतिनिधि तथा अधिकारी उपस्थित थे।

23000 स्काउट गाइड ने ली स्वच्छता की शपथ –

इस अवसर पर इन बच्चों ने स्वच्छता संबंधी शपथ भी ली। बच्चों ने शपथ लेते हुए कहा कि वे हमेशा स्वच्छता के नियमों का पालन करेंगे। अपने परिवेश को स्वच्छ रखेंगे। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री ने स्वच्छ भारत अभियान के अंतर्गत सफाई की जो बुनियादी बातें बताई हैं। वे इनका पालन करेंगे, साथ ही अपने परिवेश को भी बेहतर बनाने में मदद करेंगे।

10 हजार बच्चे करेंगे शहर की स्वच्छता-

रविवार को स्काउट के दस हजार बच्चे राजनांदगांव में सफाई अभियान के लिए निकलेंगे। इसके लिए रूटचार्ट बनाया गया है। इस संबंध में नगर निगम कमिश्नर श्री अश्विनी देवांगन ने बताया कि इससे स्वच्छता संबंधी अच्छा मैसेज जाएगा और हम नई पीढ़ी को स्वच्छता के प्रति भावनात्मक रूप से जोडऩे में भी सफल होंगे।

Tags

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button
%d bloggers like this: