छत्तीसगढ़

दुर्घटना में घायल 23 वर्षीय युवती ने अपोलो हॉस्पिटल में तोड़ा दम

इलाज में लापरवाही की वजह से मौत होने का आरोप

बिलासपुर: 24 जून की सुबह रेलवे क्षेत्र में मॉर्निंग वाक पर निकली बिलासपुर के टिकरापारा निवासी युवती को किसी वाहन से ठोकर मार दी। परिजन उसे बेहोशी की हालत में अपोलो हॉस्पिटल ले गए। वहां जांच के बाद डॉक्टरों ने बताया कि युवती के बाएं हाथ का ऑपरेशन करने जरूरी है।

सवा लाख रुपये जमा करने पर ऑपरेशन किया गया। ऑपरेशन के बाद डॉक्टरों ने जानकारी दी कि हाथ की नस में परेशानी आई थी। इसके बाद युवती के हालत में सुधार आने लगा। इसी बीच डॉक्टरों ने उसकी प्लास्टिक सर्जरी करने के लिए कहा।

युवती के पिता विजय सिंह ने बताया कि उन्होंने प्लास्टिक सर्जरी करने से मना कर दिया। लेकिन डॉक्टरों के दवाब डालने पर वह प्लास्टिक सर्जरी के लिए तैयार हो गए। प्लास्टिक सर्जरी के बाद उनकी बेटी की स्थिति सुधरने के बजाय बिगड़ने लगी। साथ ही सर्जरी वाली जगह से लगातार खून बहने लगा।

डॉक्टरों ने परिजन को बिना बताए ही उसे वेंटिलेटर पर रख दिया। दो दिन वेंटिलेटर में रखने के बाद मंगलवार की रात उसकी मौत हो गई। इसके बाद डॉक्टर व स्टाफ परिजन से मिलने तक को तैयार नहीं हुए। मृतक के पिता विजय सिंह ने आरोप लगाया है इलाज में लापरवाही की वजह से उनकी बेटी की मौत हुई है। इस मामले की शिकायत परिजन ने स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव से की है।

नहीं बताई मौत की वजह :

परिजन को युवती की मौत की जानकारी बुधवार सुबह स्टाफ ने दी। लेकिन मौत वजह नहीं बताई गई। मृतक के पिता विजय सिंह का कहना है कि सामान्य चोट में मौत होना संभव नहीं है। जरूर बड़ी लापरवाही बरती गई है। इसी कारण मौत की वजह को छिपाया जा रहा है।

10 लाख में प्लास्टिक सर्जरी पर सर्जन उपलब्ध नहीं :

परिजन का आरोप है कि बेवजह प्लास्टिक सर्जरी की गई। बताया गया है कि इसमें तकरीबन 10 लाख रुपये का खर्च आएगा। जबकि अपोलो हॉस्पिटल में प्लास्टिक सर्जन ही नहीं है। डॉक्टरों ने डराया कि यदि प्लास्टिक सर्जरी नहीं की गई तो हाथ काम करना बंद कर देगा। इसकी वजह से वह प्लास्टिक सर्जरी के लिए तैयार हो गए।

वाहन चालक पर जुर्म दर्ज :

मामले में तारबाहर पुलिस ने अज्ञात वाहन चालक के खिलाफ धारा 279, 337 के तहत अपराध दर्ज कर लिया है। पुलिस अज्ञात वाहन चालक की तलाश कर रही है। इसके लिए आसपास के सीसीटीवी कैमरे के फुटेज खंगाल रही है। युवती की अचानक तबीयत बिगड़ गई थी। ज्यादा खून बहने से उसकी मौत हो गई। इसके बारे में ज्यादा जानकारी मेडिकल वार्ड के डॉक्टर दे पाएंगे।

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button