छत्तीसगढ़

जम्मू से सारंगढ़ आई 23 वर्ष की गर्भवती महिला निकली कोरोना पॉजिटीव

मेडिकल विभाग और कान्टेक्ट ट्रेसिंग टीम पहुंची रक्सा गांव

रायगढ़: डिलीवरी के लिये 22 मई को जम्मू से सारंगढ ट्रेन से विकासखंड़ के ग्राम रक्शा मे आई 23 वर्ष की गर्भवती महिला की पहली रिपोर्ट कोरोना पॉजिटीव पाए जाने के बाद सारंगढ़ अंचल मे हड़कंप मच गया है।

कान्टेक्ट ट्रेसिंग और सेनटाईजस करने से लेकर कंटेमेट जोन बनाने और क्वारेंटाईन सेंटर को सील करने के लिये प्रशासनीक अमला देररात को रक्शा पहुंच गया है। उल्लेखनीय है कि विधायक उत्तरी जांगड़े के गृहग्राम के ठीक पड़ोसी गांव रक्शा है।

सारंगढ में सबसे पहला कोरोना पॉजिटिव मिल गया है। कोरोना पॉजिटिव मिलते हैं पूरे इलाके में सनसनी फैल गई है। यह सारंगढ क्षेत्र का पहला मामला है। लॉक डाउन से लेकर अब तक इस ब्लाक में एक भी कोरोना पॉजिटिव व्यक्ति नहीं मिला था।

ग्राम पंचायत रक्सा के क्वारेंटाईन सेंटर से ईलाज के लिये रायगढ शास. किरोड़ीमल अस्पताल लाया गया गर्भवती महिला को कोरोना संक्रमित पाया गया है। पॉजिटिव पाए जाने के बाद मेडिकल स्टाप के 5 सदस्यों को भी क्वारेंटीन करने की तैयारी की जा रही है।

सारंगढ़ के रक्शा से गर्भवती महिला का कोरोना पॉजिटिव सामने आया है। प्रशासनिक अधिकारियों ने पुष्टि की है साथ ही प्रशासनिक अधिकारियों की पूरी टीम उक्त ग्राम में रवाना हो चुकी है।

रायगढ़ जिले के सारंगढ़ क्षेत्र अंतर्गत जम्मू से वापस आई महिला को ब्लड सैंपल लेकर में वही के कोरोटाइन सेंटर में रखा गया था। जहां गर्भवती महिला को सारंगढ़ के केरोटाइन सेंटर से लेकर के डिलीवरी होने के लिए परिजन सहित महिला को एंबुलेंस द्वारा रायगढ़ जिला अस्पताल में भिजवाया गया।

रायगढ़ मेडिकल कॉलेज अस्पताल में महिला एडमिट

वही आज रायगढ़ मेडिकल कॉलेज अस्पताल में महिला को एडमिट किया गया और देर शाम को उसकी रिपोर्ट आई पॉजिटिव जिसके बाद स्वास्थ्य विभाग का अमला रायगढ़ मेडिकल कॉलेज अस्पताल अपनी टीम के साथ पहुंचा और महिला को कोरेटाइन में रखा गया है।

जानकारों ने यह भी बताया कि जब महिला को केरोटाइन के लिए रखा गया था उसको डिलीवरी सारंगढ़ के नजदीकी अस्पताल में किया जाना था अगर रायगढ़ मेडिकल कॉलेज अस्पताल में थोड़ी भी चूक हुई तो कई लोग संक्रमण से कोई बचा नहीं पाएगा।

बहरहाल अब रायगढ़ में पॉजिटिव मरीजों की कुल संख्या 19 हो गई है, तथा पॉजिटिव रिपोर्ट आने के बाद महिला के इलाज में लगे 5 मेडिकल स्टाफ को क्वारनटाईन करने की तैयारी की जा रही है, जिसमे की एक डॉक्टर और 4 नर्स शामिल है।

बताया जा रहा है कि रैपिड टेस्ट की रिपोर्ट 3 बार नेगेटिव आने के बाद गर्भवती महिला को जिला चिकित्सालय में भर्ती कराया गया था परंतु आज जब महिला में कोविड-19 वायरस की जांच रिपोर्ट पॉजिटिव आई तो जिला चिकित्सालय सहित स्वास्थ्य विभाग में खलबली मच गई,यंहा सवाल यह उठता है कि क्वारनटाईन सेंटर से अस्पताल दाखिल होने वाले व्यक्ति की तीमारदारी में लगे मेडिकल स्टाफ को बिना पीपीअर् किट के कैसे काम करने दिया जा रहा है,

स्वास्थ्य विभाग की घोर लापरवाही के कारण संक्रमण का खतरा अब जिला चिकित्सालय में बढ़ सकता है, फिलहाल महिला की ट्रैवल हिस्ट्री खंगाली जा रही है ताकि उनके सम्पर्क में आए लोगों को भी क्वारनटाईन किआ जा सके।

Tags
Back to top button
%d bloggers like this: