राष्ट्रीय

निर्भया की माँ का छलका दर्द, कहा बेटियां अब भी सुरक्षित नहीं है, सरकार से की ये मांग

निर्भया के अभिभावकों ने बलात्कार के मामले में दोषी को फांसी की सजा देने की वकालत की और कहा कि भले समाज आगे बढ़ गया हो लेकिन ‘बेटियां अब भी सुरक्षित नहीं है

दिल्ली में 16 दिसम्बर 2012 की रात में 23 वर्षीय पारामेडिकल छात्रा के साथ चलती बस में सामूहिक बलात्कार हुआ था और 29 दिसंबर को उसकी मौत हो गई थी, सामूहिक दुष्कर्म का शिकार हुई निर्भया के अभिभावकों ने बलात्कार के मामले में दोषी को फांसी की सजा देने की वकालत की और कहा कि भले समाज आगे बढ़ गया हो लेकिन ‘बेटियां अब भी सुरक्षित नहीं है।’

निर्भया की मां दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्ष स्वाति मालिवाल द्वारा किए जा रहे अनिश्चित हड़ताल में पहुंची थी।यह हड़ताल आज दूसरे दिन में प्रवेश कर गया। यहां निर्भया की मां ने कहा कि मैं बहुत दुखी हूं कि हम एक समाज के तौर पर बहुत आगे बढ़ गए हैं लेकिन हमारी बेटियां आज भी सुरक्षित नहीं है।

मैं मांग करती हूं कि बलात्कारियों को फांसी की सजा मिलनी चाहिए।’’ जम्मू-कश्मीर के कठुआ और उत्तर प्रदेश के उन्नाव में बलात्कार की हालिया घटनाओं के बाद मालिवाल ने हड़ताल शुरू की है।

Summary
Review Date
Reviewed Item
निर्भया की माँ का छलका दर्द, कहा बेटियां अब भी सुरक्षित नहीं है, सरकार से की ये मांग
Author Rating
51star1star1star1star1star
Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *