पश्चिम बंगाल : 98 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से तूफ़ान, 7 की मौत

पश्चिम बंगाल में 98 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से मंगलवार की शाम तेज बारिश के साथ आए आंधी-तूफान आया जिसकी की चपेट में आकर 7 लोगों की मौत हो गई, जबकि कई घायल हुए हैं

पश्चिम बंगाल में 98 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से मंगलवार की शाम तेज बारिश के साथ आए आंधी-तूफान आया जिसकी की चपेट में आकर 7 लोगों की मौत हो गई, जबकि कई घायल हुए हैं. से तेज हवाएं चलने से कई पेड़ गिर पड़े और यातायात प्रभावित हुआ. कोलकाता में तेज हवाओं के कारण कई घरों को भी नुकसान पहुंचा है और कई जगहों पर शॉट सर्किट से आग लगने के समाचार मिले हैं. मृतकों की संख्या अभी और बढ़ सकती है.

मौसम विभाग के क्षेत्रीय निदेशक जीके दास ने बताया कि उत्तर-पश्चिम दिशा से 98 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से चलने वाली हवाओं ने शाम करीब 7:42 बजे पूरे इलाके को अपनी चपेट में लिया. पुलिस ने बताया कि कोलकाता और आसपस बड़ी संख्या में पेड़ गिर पड़े जिससे यातायात बुरी तरह प्रभावित हुआ. इस आंधी तूफान की चपेट में आकर बांकुरा जिले से 5 लोगों की मौत के समाचार मिले हैं. जबकि हावड़ा जिले से एक व्यक्ति की मौत की खबर है.

ट्रेन यातायात प्रभावित

पूर्वी एवं दक्षिण-पूर्वी रेलवे सूत्रों ने बताया कि सियालदह और हावड़ा डिवीजनों में उप-नगरीय ट्रेन सेवाएं प्रभावित हुईं, क्योंकि आंधी के दौरान ट्रेन से जुड़े बिजली के तार टूट गए. सूत्रों ने बताया कि एक रेलिंग का एक हिस्सा हावड़ा स्टेशन पर एक खाली ट्रेन पर जा गिरा. हालांकि, इसमें कोई हताहत नहीं हुआ. हवाई अड्डे के अधिकारियों ने बताया कि कुछ विमानों के आगमन एवं प्रस्थान में भी देरी हुई.

कई जगहों पर आग लगी

अग्निशमन विभाग ने बताया कि शहर के कई हिस्सों से बिजली के कारण आग लगने की सूचनाएं मिलीं. बालीगंज सर्कुलर रोड पर लगी एक आग को दमकल की पांच गाड़ियों से काबू में लाया गया. सूचना के मुताबिक कराया पुलिस थाना इलाके में हवा के कारण एक मकान को नुकसान पहुंचा. दफ्तर से घर लौट रहे लोगों को भारी ट्रैफिक जाम का सामना करना पड़ा. मौसम विभाग ने बताया कि मौसम में बदलाव अभी अगले दो-तीन दिन और देखने को मिलेगा. आंधी-तूफान के कारण मेट्रो रेल सेवा भी करीब दो घंटे तक बाधित रही. इस दौरान लोगों को भारी परेशानी का सामना करना पड़ा.

Back to top button