अंतर्राष्ट्रीय

रूस में हुए गैस विस्फोट में मरने वालों की संख्या हुई 26, 15 लोग अब भी लापता

कठिन परिस्थितियों में काम कर रहे हैं बचावकर्ता

मॉस्को: रूस के माग्नीतोगोस्र्क शहर के एक इमारत में हुए गैस विस्फोट से इमारत दहने से मरने वालों को संख्या में बढ़ोतरी हुई है. जहां मरने वालों को संख्या 26 बताई जा रही है वहीं इस विस्फोट के बाद से 15 लोग अब भी लापता हैं.

स्थानीय अधिकारियों ने बुधवार को बताया कि कड़ाके की ठंड (शून्य से करीब 27 डिग्री सेल्सियस नीचे तापमान) के बावजूद बचावकर्ता मलबे से शवों को निकाल रहे हैं.

उन्होंने बताया कि भवन क्षतिग्रस्त होने के करीब 36 घंटे बाद मलबे से जिंदा निकाले गए 10 महीने के बच्चे को उसकी मां से मिलाया गया. हालांकि और लोगों के जिंदा बचे होने की संभावना कम हो गई है.

आपात स्थिति से संबंधित मंत्रालय ने एक बयान में कहा कि साढ़े चार बजे तक 26 शव निकाले गए जिनमें तीन बच्चे भी शामिल हैं. इससे पहले दो बच्चों समेत छह लोगों को बचाया गया था.

ब्रिटिश मीडिया द गार्डियन में छपी एक ख़बर के मुताबिक रूस ने उन बातों से इनकार किया है जिनमें ये जानकारी सामने आई थी कि बिल्डिंग में विस्फोटक मिला है.

नए साल के पहले हुए धमके में इस बिल्डिंग का एक हिस्सा पूरी तरह से क्षतिग्रस्त हो गया. लेकिन आवासीय बिल्डिंग में धमके के कारणों में विस्फोटक की बात को रूस ने सिरे से ख़ारिज कर दिया है. हालांकि, रूस का कहना है कि वो सभी संभावित कारणों की जांच कर रहे हैं.

Summary
Review Date
Reviewed Item
रूस में हुए गैस विस्फोट में मरने वालों की संख्या हुई 26, 15 लोग अब भी लापता
Author Rating
51star1star1star1star1star
congress cg advertisement congress cg advertisement
Tags