संचालक की दरिंदगी से हुई थी शेल्टर होम में 3 बच्चों की मौत

पुलिस ने संचालक एमपी अवस्थी को गिरफ्तार कर लिया

भोपाल :

शेल्टर होम में यौन शोषण मामले में नया खुलासा हुआ है कि संचालक बच्चों को बुरी तरह प्रताड़ित भी करता था और उसकी प्रताड़ना से आठ साल पहले तीन बच्चों की मौत हो चुकी है।

यहीं नहीं आरोप है कि उसने एक लड़की से आठ साल तक रेप किया है। पुलिस ने संचालक एमपी अवस्थी को गिरफ्तार कर लिया है।

हैरान करने वाली बात यह है कि यह एमपी अवस्थी वही शख्स है जिस पर पिछले साल होशंगाबाद में एक शेल्टर होम में यौन शोषण का आरोप लगा था।

लेकिन तब उस पर कार्रवाई नहीं हुई। वह भोपाल में शेल्टर होम चला रहा था और यहां 10 साल से कम उम्र तक के बच्चों को भी अपनी हवस का शिकार बना डाला।

छह बच्चों ने आरोप लगाया कि एमपी अवस्थी ने कई बार उनके साथ रेप किया और जब वे विरोध करते थे तो वह उन्हें पीटता था।

इन बच्चों ने एक लिखित शिकायत पुलिस को दी है। इनमें से एक 18 साल की लड़की ने बताया कि अवस्थी पिछले आठ साल से उसके साथ रेप कर रहा है।

ऐसे हुआ खुलासा

दरअसल मूक-बधिर बच्चों के साथ हुए शारीरिक शोषण का मामला एक पीड़िता द्वारा रीवा की सामाजिक कार्यकर्ता को भेजने के बाद सामने आया।

इसके बाद मामले में खुलासा हुआ। आरोपी एमपी अवस्थी साईं विकलांग अनाथ आश्रम नाम से संस्था चलाता है। भोपाल की बैरागढ़ पुलिस ने उसे गिरफ़्तार कर लिया है।

आरोपी अवस्थी के भोपाल के बैरागढ़ और होशंगाबाद समेत कुल चार हॉस्टल थे। आरोप है कि वो लड़के-लड़कियों दोनों का यौन शोषण करता है।

पिछले साल फरवरी 2017 में पहली बार एक मूक-बधिर लड़की ने होशंगाबाद में कलेक्टर से शिकायत की थी। लेकिन प्रशासन ने उसकी शिकायत पर ध्यान नहीं दिया।

Tags
Back to top button