रायपुर

पं.रविशंकर शुक्ल विश्वविद्यालय के सांख्यिकी विभाग में 3 दिवसीय वर्कशॉप कल से

स्टेटिस्टिकल कम्प्युटेशनल तकनीक के बारे में जानेंगे छात्र

रायपुर। पं.रविशंकर शुक्ल विश्वविद्यालय के सांख्यिकी विभाग में आउटरीच प्रोग्राम के अन्तर्गत 3 दिवसीय राष्ट्रीय स्तर की कार्यशाला का आयोजन किया जा रहा है। यह कार्यशाला “स्टेटिस्टिकल कम्प्युटेशनल टेक्निक्स यूजिंग पाइथान, ‘ R ‘ तथा SPSS” विषय पर 18 से 20 जुलाई तक ऑनलाईन पद्धति से चलेगी।

कार्यक्रम के समन्वयक व सांख्यिकी विभाग के HOD प्रो. व्यास दुबे ने बताया कि वर्कशॉप सुबह 9.30 से शुरू होगी जो शाम 6 बजे तक चलेगी। कार्यक्रम का उद्घाटन 18 जुलाई को सुबह 9.30 बजे रविशंकर विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो. केशरी लाल वर्मा करेगें।

उन्होंने बताया कि इस कार्यशाला में अपने देश के विभिन्न प्रांतो सहित बंगलादेश, पाकिस्तान, साउदी अरब, ओमान इत्यादि देशों के करीब एक हजार प्रतिभागी भाग लेंगे। साथ ही युनिवर्सिटी के कुलसचिव प्रो. गिरीश कांत पाण्डेय तथा आउटरीज कार्यक्रम के समन्वयक विज्ञान संकायाध्यक्ष प्रो. कलोल कुमार घोष भी विशेष रूप से उपस्थित रहेगें ।

कार्यक्रम के प्रशिक्षक प्रो. सुरेश कुमार शर्मा , पंजाब विश्वविद्यालय चंड़ीगढ , प्रो. अनिरुद्ध जोशी , सावीत्रीबाई फुले विश्वविद्यालय पुणे तथा प्रो. एके सिंह इंदिरा गांधी कृषि विश्वविद्यालय रायपुर होंगे।

क्या होता है SPSS” तथा “R”

सांख्यिकी विभाग के प्रमुख प्रो. व्यास दुबे ने बताया कि “SPSS” तथा “R” दोनो अलग अलग कम्प्यूटर साफ्टवेयर पैकेज है, जिनका उपयोग सांख्यिकीय आकड़ों के विश्लेषण में किया जाता है। उन्होंने बताया, “पाइथन” एक प्रकार का कम्प्यूटर प्रोग्रामिंग लैंग्वेज है, जिसका उपयोग डाटा साइन्स, वेब डिजाइनिंग, एकाडन्टिंग एवं फाइनेन्स का माडल बनाने में किया जाता है। ये सभी साफ्टवेयर पर रोजगार परक है तथा शोध कार्य में सहायक हैं। इसकी जानकारी रखनेवाल व्यक्तियो को कम से कम पांच लाख के पैकेज पर नौकरी मिलती है तथा वे अपनी स्वंय कम्पनी भी खोल सकते हैं।

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button