पुलिस को मिली बड़ी कामयाबी, ईनामी महिला समेत 3 हार्डकोर नक्सलियों ने किया आत्मसमर्पण

दंतेवाड़ा।

सुकमा पुलिस को बड़ी कामयाबी मिली है। छत्तीसगढ़ शासन की पुनर्वास एवं आत्मसमर्पण नीति से प्रभावित होकर एवं पुलिस द्वारा चलाये गये नक्सल विरोधी अभियान से दबाव में आकर व जनजागरण अभियान से प्रेरित होकर, समाज की मुख्य धारा में शामिल होने की इच्छा, आंध्रप्रदेश के बड़े नक्सली लीडरों की प्रताडऩा एवं भेदभाव से प्रताड़ित होकर 3 सक्रिय, ईनामी नक्सलियों ने सुकमा पुलिस के समक्ष आत्मसमर्पण कर दिया।

सुकमा एसपी अभिषेक मीणा ने बताया कि बेको मुके उर्फ पार्वती करांडी एलओएस सदस्य निवासी कालाहांडी उड़ीसा ईनामी एक लाख रूपए, सोढ़ी जोगा पूर्व दक्षिण बस्तर डिवीजन कम्यूनिकेशन टीम कमांडर निवासी भेज्जी एवं वेट्टी रामा पूर्व नागाराम जनताना सरकार अध्यक्ष व स्थायी वारंटी निवासी जगरगुंडा ने बगैर हथियार आत्मसमर्पण किया है।

उन्होंने बताया कि समर्पित महिला नक्सली वेको मुके साल 2016 में ओड़िसा कालाहांडी के ग्राम कोटलन के पास और 2017 में ग्राम मिरकुल के पास पुलिस गश्त पार्टी पर फायरिंग की घटना में शामिल रही है।

सरेंडर नक्सली सोढ़ी जोगा, कोंटा थाने के ग्राम आसरीगुड़ा के निकट जवानों के ट्रेक्टर में आईईडी ब्लास्ट, थाना चिंतागुफा के ताड़मेटला में एंबुश तथा 2011 में थाना चिंतलनार के तिम्मापुरम के निकट पुलिस-नक्सली मुठभेड़ में शामिल रहा है।

इसी प्रकार आत्मसमर्पित नक्सली वेट्टी रामा वर्ष 2013 में थाना चिंतागुफा के ग्राम मिनपा अस्थायी पुलिस केम्प पर फायरिंग में शामिल था। सभी समर्पित नक्सलियों को शासन की राहत एवं पुनर्वास योजना के तहत सहायता प्रदान की जाएगी।

1
Back to top button