कोण्डागांव में 3 लाख का इनामी माओवादी ने किया सरेंडर

कोंडागांव।

जिला बल कोण्डागांव और एसआईबी द्वारा संयुक्त रूप से चलाए जा रहे नक्सल विरोधी अभियान में सुरक्षा बलों को सफलता मिली है। दरअसल नक्सल ऑपरेशन के दबाव में और छत्तीसगढ़ सरकार की पुर्नवास नीति से प्रभावित होकर आज नक्सली बड़गांव एलओएस पूर्व कंमाडर और रेकी टीम का सदस्य धनीराम गावड़े ने सरेंडर किया है।

पुलिस को नक्सली मुठभेड़ में शामिल घटनाओं का सिलसिलेवार जानकारी देकर समाज के मुख्य धारा से जुड़ने की इच्छा जाहिर कर पुलिस अधीक्षक कोण्डागांव के समक्ष आत्मसमर्पण किया।

इन घटनाओं में था शामिल

2007-08 में परतापुर एलजीएस कंमाडर मुकेश, बड़गांव एलओएस कंमाडर उमेश के साथ नागा फोर्स मेंड्रा स्कूल में ठहरे की जानकारी पर मेंड्रा स्कूल में नागा फोर्स पर फायरिंग किए। जिसमें एक नागा फोर्स का जवान शहीद हो गया।

2007-08 में कंमाडर महेश जयमति, सुक्कू के साथ कापसी रोड में आईईडी बम लगाकर एम्बुश किये जिसमें 03 मोटर सायकल में 05 पुलिस वाले जा रहे थे उसी दौरान विस्फोट कर फायरिंग किए जिसमें 03 पुलिस वाले शहीद हो गये। जिसमें पुलिस का 03 रायफल, 1. एके 47 व 02 इंसास रायफल को लूट लिए।

2008-09 में कंमाडर एसजेडसी रामदेर, कंपनी नं.5 कंमाडर दीपक के साथ ग्राम भुस्की थाना दुर्गकोंदल क्षेत्र में पैदल पुलिस पार्टी पर एम्बुष लगाकर फायरिंग किये जिसमें 02 पुलिस वाले शहीद हो गये। इस दौरान उक्त आत्मसमर्पित नक्सली शवलाल को गले के बॉए ओर गोली लगी थी।

2015 में किसकोड़ा एलओएस कंमाडर फूलसिंह के साथ बेलगांव थाना धनोरा में जेसीबी, ट्रक एंव रोड निर्माण में लगे वाहनों को आगजनी करने की घटना में शामिल रहा है।

जिला कांकेर के थाना पखांजुर के अपराध क्रमांक 124/07, 125/07, थाना सिकसोड़ अप.क्र. 12/07 थाना कोयलीबेड़ा अप. क्र. 03/09, थाना भानुप्रतापपुर 08/09, 127/09, 207/10, थाना दुर्गकोंदल 29/10, 05/00, थाना रावघाट 08/10, थाना बड़गांव 08/08, 03/09, 26/10 के नक्सल अपराधों में लंबित वारंट है।

new jindal advt tree advt
Back to top button